ताज़ा ख़बर

विज्ञापन

विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद 14 जुलाई : एक इंसान की मूलभूत सुविधाओं में पानी का सबसे महत्वपूर्ण स्थान है ।  जिस को ध्यान में रखकर वह अपने इलाके का विधायक व पार्षद का चुनाव करता है । परंतु अगर पीने का पानी ना मिले तो  वह इंसान अपने आप को थका हुआ महसूस करता है ।  ठीक यही हाल वार्ड नंबर 5 पर्वतीय कॉलोनी में रहने वाले लोगों की है  ।

यहां के लोगों का कहना है कि पिछले 2 से 3 महीने से उन्हें पीने का पानी नहीं मिल रहा है ।  जिससे   परेशान होकर आज कॉलोनी की काफी संख्या में महिलाएं और पुरुष सड़कों पर उतर आए । कॉलोनी का सबसे व्यस्त डिस्पोजल चौक को घेर लिया और बीच सड़क में ही बैठ गए ।
 जिससे यातायात कुछ समय के लिए बाधित भी रहा । ऐसे में लोगों ने स्थानीय पार्षद और विधायक के मुर्दाबाद के नारे भी लगाए । लोगों का कहना है कि यहां की पार्षद की अनदेखी के कारण लोगों को पीने का पानी नहीं मिल पा रहा है । लोग टैंकरों से पानी खरीदकर अपना गुजारा कर रहे हैं परंतु ऐसा कब तक चलेगा । पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए ही तो उन्होंने अपने पार्षद और विधायक को चुना था ।
 वहीं लोगों ने बताया कि कुछ समय पहले डिस्पोजल चौक पर ही पानी की एक एटीएम मशीन लगाई गई है । जिसका उद्दघाटन यहां की पार्षद ललिता यादव ने ही किया था । परंतु पिछले 10 से 15 दिन से उसके अंदर भी पानी नहीं है । पानी की किल्लत पर वार्ड की पार्षद एकदम मौन है । ऐसे में लोगों के अंदर भारी असंतोष फैल रहा है ।

लोगों ने कहा कि अगर उनकी समस्या का समाधान प्रशासन जल्द नहीं निकालता तो आने वाले कुछ दिनों में यह लोग नगर निगम का भी घेराव करेंगे ।
विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद 7 जुलाई : यदि आपके व्रत के दिन आपको  शाकाहारी भोजन के बजाय कोई आपको मांसाहारी भोजन परोस दे तो आपको कैसा लगेगा ।  जाहिर सी बात है कि आप को बहुत क्रोध आएगा ।
ऐसा ही कुछ हुआ पुणे में वकील शनमुख देशमुख के साथ । पुणे के एक रेस्टोरेंट से जोमैटो ऑनलाइन ऐप के जरिए खाना मंगाना देशमुख को भारी पड़ गया । वह भी एक बार नहीं दो बार । उन्होंने जोमैटो के जरिए पनीर बटर मसाला मंगवाया लेकिन भेजा  बटर चिकन । जब रेस्‍त्रां से इस संबंध में शिकायत की गई तो गलती मानते हुए एक बार फिर पनीर बटर मसाला भेजने की बात की लेकिन फिर भेज दिया गया बटर चिकन. ऐसे में देशमुख ने उपभोक्ता फोरम का दरवाजा खटखटाया और उन्हें न्याय भी मिला ।

देशमुख ने इस संबंध में जब पुणे के ‌अतिरिक्त जिला उपभोक्ता फोरम में जोमैटो और खाना ‌भिजवाने वाले रेस्‍त्रां प्रीत पंजाबी स्वाद के खिलाफ शिकायत की तो पूरा प्रकरण सुनने के बाद फोरम ने दोनों पर 55 हजार रुपये का जुर्माना लगाया. कोर्ट ने जोमैटो के गुरुग्राम स्थित हैडऑफिस और रेस्‍त्रां को यह राशि 45 दिनों में चुकाने का आदेश दिया है. साथ ही फोरम ने आदेश दिया है कि यदि 45 दिन से ज्यादा देरी होती है तो इस राशि पर 10 प्रतिशत की दर से ब्याज भी चुकाना होगा. जुर्माने में 50 हजार रुपये लापरवाही और 5 हजार रुपये मानसिक तकलीफ पहुंचाने के ऐवज में देशमुख को मिलेंगे.


इस संबंध में एक मीडिया चैनल ने जब जोमैटो के रीजनल मैनेजर विपुल सिन्हा से बात की तो उन्होंने इस संबंध में जानकारी न होने की बात की । सिन्हा ने कहा कि उन्हें फोरम का आदेश नहीं मिला है और उन्हें ऐसे किसी आदेश की कोई जानकारी भी नहीं है । 

देशमुख बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर बेंच में प्रैक्टिस करते हैं. 31 मई 2018 को वे काम से पुणे गए थे. इस दौरान गुरुवार होने के चलते उनका व्रत था और शाम को उन्होंने जोमैटो के जरिए प्रीत पंजाबी स्वाद होटल से पनीर बटर मसाला ऑर्डर किया. जब खाना आया तो उन्हें अहसास हुआ कि यह चिकन है. उन्होंने तुरंत जोमैटो के डिलीवरी बॉय को फोन किया तो जवाब मिला कि उसे कोई जानकारी नहीं है और वे पार्सल को खोलकर नहीं देखते. इस पर देशमुख ने होटल से संपर्क किया और इस बारे में जानकारी दी. होटल के मैनेजर ने उन्हें भरोसा दिलवाया कि गलती हो गई है उन्हें दोबारा सही खाना भेजा जा रहा है. खाना आया भी लेकिन एक बार फिर होटल ने उन्हें चिकन ही भेजा था लेकिन बिल पर बटर पनीर मसाला लिखा था. इसके बाद देशमुख ने फोरम का दरवाजा खटखटाया था. देशमुख ने होटल और जामैटो को कानूनी नोटिस भेज कर धार्मिक भावनाएं आहत करने के जुर्म में 5 लाख हर्जाना और मानसिक उत्पीड़न के लिए 1 लाख रुपये की मांग की थी ।
विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद, 7 जुलाई : ग्रेटर फरीदाबाद के सेक्टर 85-88 में एसआरएस के सामने रविवार को प्रातः राहगीरी का आयोजन किया। राहगीरी का शुभारंभ हरियाणा के उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री विपुल गोयल ने किया श्री विपुल गोयल  ने  लोगों के बीच रहकर राहगीरी का लुफ्त उठाया ।
उद्योग एवं  वाणिज्य मन्त्री श्री विपुल गोयल  कभी रस्साकशी कर रहे थे , तो कभी बैडमिंटन खेल रहे थे और कभी लूडो का आनंद ले रहे थे, तो कभी चैस खेल कर आनन्द लिया ।
 उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने राहगीरी में उपस्थित लोगों को अपने संबोधन में कहा कि राहगीरी से शरीर की सकारात्मक शक्ति बढ़ती है और नकारात्मकता कमजोर होती है । ऐसे आयोजनों से लोगों के शरीर में सहनशीलता बढती है ।
 उन्होंने कहा कि राहगीरी का शुभारंभ प्रदेश में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शुरू किया था। अब पूरे प्रदेश के हर शहर में लोग संडे को फन फन डे के रूप में मना रहे हैं। छुट्टी के दिन की शुरुआत बच्चे, बूढ़े और जवान,महिला तथा पुरूष  एक साथ  हंसी-खुशी, खेल कूद, नाच गाकर कर रहे हैं। राहगीरी में प्रत्येक आदमी खुश नजर आता है। उन्होंने कहा कि आगामी 28 जुलाई को सेक्टर 12 में मेगा राहगीरी का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इस राहगीरी कार्यक्रम में अधिक से अधिक संख्या में पहुंचे । उन्होंने कहा कि प्रत्येक भागीदार को 28 जुलाई को एक - एक पौधा भेट में किया जाएगा और उस पौधे को पेड़ बनाने का प्रयास करने का संकल्प भी लोगों से दिलवाया जाएगा । सभी पौधे लोगों को फ्री में दिए जाएंगे। उन्होंने  ग्रेटर फरीदाबाद के आरडब्ल्यूएस के सदस्यों तथा आमजन से भी अपील करते हुए कहा कि वे राहगीरी में बढ़-चढ़कर भाग ले।
  उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों का भी राहगीरी के सफल आयोजन के लिए प्रशंसा करके उन्हें  प्रोत्साहन के रूप में धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि आज लोग संडे की शुरुआत फंडे के रूप में कर रहे हैं । राहगीरी में योगा ,जुम्बा डांस, हरियाणवी डांस ,बेटी बचाओ -बेटी पढ़ाओ पर बेटी के जन्म पर कुआं पूजन, चलो चले सरकारी स्कूल ,छोरा मैं हरियाणे का ,हट जा ताऊ पाछे ने, यातायात नियमों पर और लीगल सेवा प्राधिकरण के अधिवक्ताओं द्वारा भी लोगों को कानूनी जानकारी उपलब्ध कराने सहित कई सामाजिक उत्थान में बेहतर कार्य करने के मुद्दों की झलक दिखाई दे रही थी ।
  एसडीएम सतबीर मान  ने रविवार को राहगीरी की अध्यक्षता की। एसीपी महेंद्र वर्मा ने विशिष्ट अतिथि के तौर पर शिरकत की । उन्होंने राहगीरी में भाग लेने वाले सभी प्रशासनिक व पुलिस के अधिकारियों का आभार प्रकट किया। राहगीरी में विभिन्न विभागों द्वारा तथा समाजसेवी संस्थाओं द्वारा अलग अलग स्टाल लगाकर लोगों को सरकार द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी भी दी गई। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढाओ, पुलिस की दुर्गा शक्ति द्वारा दुर्गा वाहिनी बारे जानकारी दी जा रही थी।  लीड बैंक प्रबंधक द्वारा बैंक की सुविधाओं बारे विस्तार पूर्वक जानकारी दी जा रही थी। कृषि विभाग द्वारा विभिन्न कृषि की जनकल्याणकारी योजनाओं तथा अन्य विभागों द्वारा अपने-अपने विभागों की जन कल्याणकारी योजनाओं बारे राहगीरी में आए लोगों को जानकारियां दी गई।
विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद 6 जुलाई :कल संसद में बजट पेश के दौरान एक बड़ा बदलाव किया गया ।  वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आजादी से चले आ रहे ब्रीफकेस के ट्रेंड को खत्म कर दिया। वे परंपरा बदलते हुए ब्रीफकेस की जगह एक फोल्डर में बजट लेकर निकलीं। अंतरिम बजट में पीयूष गोयल ने लाल रंग के ब्रीफकेस का प्रयोग किया था।
मोदी सरकार इससे पहले कई परंपराओं को बजट में तोड़ चुकी है। पहले रेल बजट को खत्म किया था, इसके बाद बजट को पेश करने की तारीख को बदला और अब ब्रीफकेस में बजट को ले जाने की परंपरा को भी खत्म कर दिया है। अब तक बजट पेश करने से पहले वित्त मंत्री एक ब्रीफकेस में ही बजट लेकर संसद पहुंचते थे। सीतारमण बजट को इसके बजाए लाल रंग के सीलबंद कवर पैक में इसको ले जाते हुए दिखी।

अमूमन बजट को पहले फरवरी महीने के आखिरी कारोबारी दिन को पेश किया जाता था। यह 27 या फिर 28 फरवरी होती थी। लेकिन अब इसे फरवरी की पहली तारीख को पेश किया जाता है।  इसके अलावा बाजपेयी सरकार के कार्यकाल में बजट पेश करने का समय शाम पांच बजे के बजाए दिन के 11 बजे किया गया था। वहीं रेल बजट आम बजट से एक दिन पहले आता था, लेकिन अब इसे भी केंद्रीय बजट में पूरी तरह से मिला दिया गया है।
मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति ने कहा कि यह बहीखाता है, जिसे आज भी कई व्यापारी अपने कारोबार में इस्तेमाल करते हैं। बही खाता हमारे पुराने जमाने की वर्षों से चली आ रही परंपरा है। देश के पहले वित्त मंत्री आरके चेट्टी ने भी बजट को ब्रीफकेस में ले जाने की परंपरा को शुरू किया था। हालांकि मोरारजी देसाई और कृष्णमचारी बजट को फाइल में लेकर के गए थे।
मनोज कुमार फरीदाबाद

गुड़गांव : जानकारी के मुताबिक, सेक्टर-49 स्थित एक अपार्टमेंट में डॉ. प्रकाश सिंह (50) अपने परिवार के साथ रहते थे। एक फार्मा कंपनी में नौकरी करते थे। डॉक्टर प्रकाश की पत्नी सोनू उर्फ कोमल एक निजी स्कूल चलाती थी। बेटी अदिति उम्र 18 साल जामिया यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन कर रही थी। बेटा आदित्य (15), स्कूल में पढ़ता था।

शहर के पॉश इलाके में एक डॉक्टर ने पत्नी और दो बच्चों की हत्या कर दी। इसके बाद खुद फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। सोमवार को सेक्टर-49 स्थित फ्लैट से चारों के शव बरामद किए हैं। पुलिस को फ्लैट से एक सुसाइड नोट भी मिला है। इसमें लिखा है कि वे अपने परिवार को सही तरीके से चला नहीं पाए। जो कुछ भी हुआ है इसके लिए कोई और नहीं वे खुद जिम्मेदार है।

डीसीपी सिलोचना गजराज ने बताया कि फ्लैट से पति-पत्नी और दोनों बच्चों के शव मिले हैं। शुरुआती जांच के मुताबिक, डॉ. प्रकाश ने पहले अपनी पत्नी सोनू और फिर दोनों बच्चों की हत्या की। इसके बाद उन्होंने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने उनकी जेब से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया। जांच व पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।

फ्लैट के एक कमरे में दोनों बच्चों और पत्नी का शव मिला। जबकि डॉक्टर का शव पुलिस को ड्राइंग रूम में सीलिंग फैन से लटका हुआ मिला। सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा कि परिवार को सही तरीके से चला नहीं, जिसकी पूरी जिम्मेदारी उन पर थी।
विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद: कांग्रेस के हरियाणा प्रदेश के प्रवक्ता विकास चौधरी को आज सुबह कुछ अज्ञात लोगो ने गोलियों से भून डाला है. जानकारी के मुताबिक विकास चौधरी पर आठ से दस गोलिया लगी है. विकास को घायल अवस्था में पास के ही सर्वोदय अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया है. ख़बर के मुताबिक सेक्टर 9 जिम के बाहर उन्हें गोलिया मारी गयी है. गोलिया मारने वाले का भी तक कोई सुराग नहीं मिला है. मौके पर पुलिस और फोरेंसिक विभाग के लोग मौजूद है. गोलियों चलनी की ख़बर के बाद इलाके में दहशत का माहौल है ।
विकास चौधरी हरियाणा प्रदेश के कांग्रेस के प्रवक्ता भी थे. पिछले कई दिनों से फरीदाबाद विधानसभा से चुनाव की तैयारी कर रहे थे. विकास को हरियाणा के कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर का करीबी माना जाता था ।अशोक तंवर आज सुबह 11 बजे  सीधे शहर के सिविल अस्पताल पहुंचे जहां जहाँ विकास चौधरी का पोस्टमार्टम चल रहा था ।
विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद 27 जून : ओडिशा के क्योंझर ज़िले के खनिज संपन्न तालबैतरणी गांव के रहने वाले दैतारी नायक ने सिंचाई के लिए वर्ष 2010 से 2013 के बीच अकेले ही गोनसिका का पहाड़ खोदकर तीन किलोमीटर लंबी नहर बना दी थी. इस नहर से अब 100 एकड़ ज़मीन की सिंचाई होती है. उन्होंने कहा कि वह पद्मश्री सम्मान लौटाना चाहते हैं ।
इस साल मार्च में राष्ट्रपति भवन में दैतारी नायक को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद्मश्री सम्मान दिया था।
भुवनेश्वर: ओडिशा के आदिवासी किसान और पद्मश्री से सम्मानित दैतारी नायक को यह सम्मान पाने के बाद दो जून की रोटी जुटाने के लिए भी काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. हाल ये है कि जिंदा रहने के लिए वह चींटियों के अंडे खाने को मजबूर हैं. यह सम्मान मिलने के बाद उन्हें कोई काम नहीं मिल रहा है।
हालात इतने बुरे हैं कि अब वह अपना पद्मश्री सम्मान भी सरकार को लौटाने का मन बना रहे हैं।
हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, दैतारी को इसी साल ओडिशा में तीन किलोमीटर नहर बनाने के लिए पद्मश्री से सम्मानित किया गया था. उनका कहना है कि यह सम्मान उनके जीवनयापन में मुश्किलें पैदा कर रहा है।

ओडिशा के क्योंझर जिले के खनिज संपन्न तालबैतरणी गांव के रहने वाले दैतारी (75) ने सिंचाई के लिए 2010 से 2013 के बीच अकेले ही गोनासिका का पहाड़ खोदकर तीन किलोमीटर लंबी नहर बना दी थी. इस नहर से अब 100 एकड़ जमीन की सिंचाई होती है।

दैतारी का कहना है कि इस सम्मान ने उन्हें गरीबी की ओर धकेल दिया है. वह कहते हैं, ‘पद्मश्री ने किसी भी तरह से मेरी मदद नहीं की. पहले मैं दिहाड़ी मजदूर के तौर पर काम करता था. लोग मुझे काम ही नहीं दे रहे हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि यह मेरी प्रतिष्ठा के अनुरूप नहीं है. अब हम चींटी के अंडे खाकर गुजर-बसर कर रहे हैं.।

उन्होंने कहा, ‘अब मैं अपने परिवार को चलाने के लिए तेंदू के पत्ते और आम पापड़ बेचता हूं. सम्मान ने मेरा सब कुछ ले लिया है. मैं इसे वापस लौटाना चाहता हूं ताकि मुझे फिर से काम मिल सके ।
उन्होंने कहा कि हर महीने 700 रुपये की वृद्धावस्था पेंशन से उनके पूरे परिवार का जीवनयापन करना मुश्किल है. उन्हें कुछ दिन पहले इंदिरा आवास योजना के तहत एक घर आवंटित हुआ था, जो अधूरा है, जिस वजह से उन्हें अपने पुराने फूस के घर में ही रहना पड़ रहा है ।