पटना, सनाउल हक़ चंचल-

पटना। भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी (सुमो) द्वारा किए जा रहे लगातार हमले पर पलटवार करते हुए राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने उन्हें मानहानि के मुकदमे की चेतावनी दी है। रमा देवी से 13.12 एकड़ जमीन दान लेने के आरोपों को खारिज करते हुए लालू ने सुमो पर झूठ बोलने का आरोप लगाया। दो दिनों का अल्टीमेटम देते हुए लालू ने कहा कि सुमो माफी मांगें या रमा देवी से उक्त प्लॉट मुझे लिखवा दें।

सुमो को भाजपा का 'झूठ बोलने वाला तोता' बताते हुए लालू ने कहा कि अगर वे सार्वजनिक तौर पर माफी मांगे। ऐसा नहीं करने पर लालू ने मानहानिक का मुकदमा करने की धमकी दी। इसपर प्रतिक्रिया में सुमो ने भी कहा कि अगर लालू मुकदमा करते हैं तो वह उन्‍हें स्‍वीकार है। वे अपनी बात पर कायाम हैं, लालू मुकदमा करें। सुमो ने कहा कि ऐसे मुकदमे वे पहले भी झेल चुके हैं।

सुमो द्वारा लालू पर रमा देवी से जमीन दान के नए आरोप पर लालू ने मीडिया के सामने जमीन का पूरा ब्योरा दिया। उन्‍होंने सुमो को भाजपा का झूठ बोलने वाला तोता करार दिया। लालू ने कहा कि प्लॉट की रजिस्ट्री बिना हमारी सहमति के ब्रजबिहारी प्रसाद ने 23 मार्च 1992 को तेज प्रताप यादव के नाम कर दी थी। यह रजिस्ट्री के नियमों के विपरीत था, क्योंकि दानपत्र में दोनों पक्षों की सहमति नहीं थी।

लालू ने कहा कि उनकी जानकारी के बिना यह रजिस्ट्री हुई थी। कुछ दिन बाद रमा देवी के पति ब्रजबिहारी प्रसाद ने इस संबंध में जानकारी दी। लालू ने दावा किया कि सूचना मिलते ही उन्‍होंने उन्हें डांटते हुए रजिस्ट्री कैंसिल कराने का निर्देश दिया। फिर, 30 जून 1993 को उक्त डीड को रद कर दिया गया।

राजद प्रमुख ने बताया कि मुजफ्फरपुर के जिस ऑफिस में रजिस्ट्री हुई थी, उसी में कैंसिल भी कराई गई। ऐसे में सुशील मोदी का यह आरोप बेबुनियाद है।

जमीन की वर्तमान स्थिति बताते हुए लालू ने कहा कि वह जमीन आज भी रमा देवी के कब्जे में है। वहां खेती हो रही है। तालाब व लीची का बगान भी है। लालू ने सुमो पर एक ही आरोप को घुमा-फिराकर रोज लगाने का आरोप लगाया और कहा कि वे उनकी तरह बेकार नहीं बैठे हैं। उनके पास बहुत सारे काम हैं।

Post A Comment:

0 comments: