पटना, सनाउल हक़ चंचल


बिहार के गोपालगंज जिले के एक हॉस्पिटल में भर्ती सद्दाम अली जिंदगी और मौत से जूझ रहा है। उसके सीने में गोली लगी है। गोली चलाने वाले कोई और नहीं बल्कि उसकी पत्नी के रिश्तेदार थे। सद्दाम ने अपने गांव की लड़की से प्रेम विवाह किया था, जिसके बाद से लड़की पक्ष के लोग उसकी जान के दुश्मन बन गए थे।

घटना बुधवार की वह रात नगर थाना के तकिया याकूब गांव में घटी। घायल सद्दाम ने कहा कि उसने जिस लड़की से कोर्ट मैरिज किया था, उसके घर के लोग मुझे जान से मारने की धमकी दे रहे थे। बुधवार की रात को मैं बस स्टैंड से घर की ओर जा रहा था। उसी समय मासूम और शमसुद्दीन गाड़ी चलाते हुए पास आया। शमसुद्दीन ने मुझे गोली मार दी।

 गोली की आवाज सुन आसपास के लोग पहुंचे तो देखा कि सद्दाम जमीन पर पड़ा तड़प रहा है और उसके शरीर से तेजी से खून निकल रहा है। गांव के लोग उसे गोपालगंज सदर हॉस्पिटल ले गए। यहां रात में बड़ी संख्या में गांव के लोग जुट गए। सद्दाम के पक्ष के लोग गोली मारे जाने की घटना से गुस्सा थे तो उसकी पत्नी के परिजन प्रेम विवाह के खिलाफ नाराज थे। माहौल बिगड़ता देख बड़ी संख्या में पुलिस बल को हॉस्पिटल में तैनात किया गया और सद्दाम को रेफर कर गोरखपुर भेजा गया।

सद्दाम को अपने गांव की एक लड़की से प्यार हो गया था। लड़की उसी की धर्म की थी, लेकिन उसकी जाति अलग थी। दोनों जानते थे कि परिवार के लोग उनकी शादी नहीं होने देंगे। इसके कारण सद्दाम ने अपनी प्रेमिका से कोर्ट मैरिज किया।

प्रेम विवाह के बाद ही गांव के कुछ लोग उसे जान से मारने की धमकी दे रहे थे। सद्दाम ने एक सप्ताह पहले नगर थाना और डीएम को लिखित शिकायत दिया था। डीएम ने इस मामले को महिला हेल्प लाइन को भेजकर परियोजना पदाधिकारी को जांच करने का आदेश दिया था। इसके बाद भी सद्दाम को पुलिस की सुरक्षा नहीं मिली।

इस मामले में गोपालगंज के डीएसपी मनोज कुमार ने कहा कि प्रेम प्रसंग के चलते गोली मारने की बात सामने आ रही है। शादी के बाद से लड़की के परिजन नाराज थे। पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

Post A Comment:

0 comments: