पटना, सनाउल हक़ चंचल-

पटना। भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया है। बुधवार को कैबिनेट की बैठक में जाने से पहले तेजस्वी यादव के बॉडीगार्ड्स पर मीडियाकर्मियों से मारपीट की खबरें आने के बाद आज सोशल मीडिया पर विडियो पोस्ट कर उसका जवाब दिया है।

तेजस्वी यादव के पोस्ट किए गए इस विडियो में दिख रहा है कि किस तरह मीडियाकर्मी सुरक्षा में तैनात बॉडीगार्ड्स से धक्कामुक्की कर रहे हैं, इस बीच तेजस्वी के सिर में एक माइक से चोट लगती है और आखिरी हिस्से में एक मीडियाकर्मी गुस्से में पुलिसवाले के सिर पर कैमरा मारता नजर आता है।

तेजस्वी यादव ने इस हमले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि मैं इस घटना की निदां करता हूं। मैं खुद इस मामले को देखूंगा और कोशिश करूंगा कि भविष्य में इस तरह की घटना न हो।

डिप्टी सीएम ने कहा कि इस तरह के आरोप बेबुनियाद है कि मेरे इशारे पर राजद समर्थकों ने मीडियाकर्मियों पर हमला किया। हमलोगों के पत्रकारों से शुरु से बेहतर संबंध रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कैबिनेट की बैठक से निकलने के बाद रिएक्शन लेने के लिए मीडियाकर्मी उतवाले थे। मैं खुद 5-6 मिनट तक चुपचाप इंतजार करता रहा लेकिन स्थिति को कंट्रोल करने में सुरक्षाकर्मियों को काफी मुश्किल हो रही थी। मीडियाकर्मी की माइक से मुझे और स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप को चोट लगी लेकिन मीडिया में कहीं भी इसकी रिपोर्टिंग नहीं हुई।

उन्होंने कहा कि फिर भी मैं समझता हूं कि मीडियाकर्मियों के साथ जो हुआ वो गलत था। मीडियाकर्मियों खास तौर से कैमरामैन का जॉब काफी मुश्किल है और हादसे के वक्त भारी तादाद में पत्रकार वहां मौजूद थे।

 तेजस्वी यादव के सुरक्षा गार्ड्स और मीडियाकर्मियों के बीच झड़प के बाद राजनीति तेज हो गई है। बीजेपी के बाद जदयू ने भी इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। बुधवार को बिहार विधानसभा परिसर में मीडियाकर्मियों से बदसलूकी की घटना सामने आयी थी।

मीडियाकर्मियों से मारपीट की घटना को जदयू ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है। जदयू प्रवक्ता केसी त्यागी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि ऐसे हालात में संयम बरतना चाहिए और अपने गुस्से पर काबू रखना चाहिए।मीडिया और नेताओं के बीच यह विवाद अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है।

दरअसल कल कैबिनेट की बैठक के बाद तेजस्वी जैसे ही बाहर निकले मीडिया ने उनसे उनका पक्ष जानने की कोशिश की। लेकिन जब पत्रकारों ने सवाल पूछने की कोशिश की तो तेजस्वी के सुरक्षाकर्मी मीडिया वालों से ही उलझ गए और बात मारपीट तक पहुंच गई।

Post A Comment:

0 comments: