केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली के केरल दौरे के एक दिन बात विधानसभा में केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन का बड़ा बयान सामने अाया है। मुख्यमंत्री ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार के पास इंटेलिजेंस रिपोर्ट्स हैं कि भाजपा राज्य के कुछ हिस्सों में हमला करवा सकती है। उन्होंने कहा कि सरकार की इस पर नजर है। राज्य में स्थिति बिगड़ने नहीं दिया जाएगा।
उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर सरकार यह मामला सीबीआई को सौंपने को तैयार है। भाजपा के लोग ऐसा मेडिकल स्कैम से ध्यान हटाने के लिए कर रहे हैं।
गौरतलब है कि एक दिन पहले केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने भाजपा-आरएसएस कार्यकर्ताओं के खिलाफ बढ़ते हमलों के लिए केरल में माकपा नीत एलडीएफ सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि केरल जैसी हिंसा भाजपा शासित राज्य में होती तो अवॉर्ड वापसी का सिलसिला शुरू हो जाता। उन्होंने आरोप लगाया कि जब भी एलडीएफ सरकार सत्ता में आती है राज्य में हिंसा की घटनाएं बढ़ जाती हैं। जेटली ने आरोप लगाया कि सत्ताधारी शासन के राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों की राज्य में सबसे 'क्रूर और बर्बर' तरीके से हत्या की जा रही है। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्वित करना सरकार की जिम्मेदारी है कि हिंसा में लिप्त रहने वालों को न्याय के कटघरे में लाया जाए।
जेटली ने कहा कि जब भी एलडीएफ सत्ता में आती है हिंसा की घटनाएं बढ़ जाती हैं। राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों की राज्य में सबसे 'क्रूर और बर्बर' तरीके से हत्या की जा रही है। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित करना राज्य की जिम्मेदारी है कि इन अपराधों को अंजाम देने वालों को न्याय के कटघरे में लाया जाए और उन्हें ऐसी कड़ी सजा मिले जो प्रतिरोध का काम करे। उन्होंने कहा कि पुलिस से भी उम्मीद की जाती है कि वह निष्पक्ष रहेगी और यदि ये दो चीजें नहीं होती हैं तो राज्य में हिंसा की घटनाएं नहीं रूकेंगी। जेटली आरएसएस कार्यकर्ता राजेश के रिश्तेदारों से मिले जिसकी हाल में राज्य में हत्या कर दी गई थी।

Post A Comment:

0 comments: