भारत-अमेरिका के एक शीर्ष थिंक टैंक का कहना है कि पिछले सप्ताह बिहार की राजनीति में जिस प्रकार से भारतीय जनता पार्टी ने वापसी की है और सत्ता पर अपनी पकड़ बनाई है उससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के स्वर्ण काल का प्रारंभ किया है.

'कार्नेगी एंडोमेंट फॉर इंटरनेशनल पीस' में दक्षिण एशिया कार्यक्रम के निदेशक एवं वरिष्ठ फेलो मिलान वैष्णव ने एक संपादकीय में कहा, 'ताजा उथल-पुथल इस बात का संकेत है कि नेहरू-गांधी परिवार की कांग्रेस पार्टी द्वारा लंबे समय से नियंत्रित देश में अब भाजपा राजनीति का नया केंद्र है.'

संपादकीय में कहा गया है कि 2019 में देश में होने वाले चुनावों के लिए भाजपा न केवल एक बड़ी पार्टी है बल्कि वह शक्तिशाली राज्यों में अपनी पकड़ मजबूत करने की दिशा में भी 'बेहद तेज गति' से आगे बढ़ रही है.

उन्होंने लिखा, 'हालांकि, भाजपा सरकार के लगातार मजबूत होने से नीतिगत स्थिरता एवं राजनीतिक मजबूती के संकेत मिल रहे हैं लेकिन इसके साथ ही भारत में लोकतांत्रिक संतुलन को लेकर भी चिंताएं पैदा हो रहीं हैं.' वैष्णव ने कहा कि उनकी व्यापार-अनुकूल नीतियां, राष्ट्रवादी बयानबाजी और उनकी आकांक्षा से भरी अपील युवाओं में उत्साह भरती है और इसके जरिए मोदी अपनी पार्टी को ऐतिहासिक चुनावी जीत की ओर ले गए हैं.

Post A Comment:

0 comments: