विघ्न विनायक श्रीगणेश का जन्मोत्सव आने को है। शास्त्रों के अनुसार भगवान गणपति को कुछ मंत्रों के जरिए आसानी से रिझाया जा सकता है। यहां तक कि मनचाहा आशीर्वाद तक पाया जा सकता है। आइए जानें कुछ ऐसे ही मंत्रों का सार- 

ॐ गं गणपतये नमः । 
एेसा शास्त्रोक्त वचन हैं कि गणेश जी का यह मंत्र चमत्कारिक और तत्काल फल देने वाला मंत्र हैं। इस मंत्र का पूर्ण भक्तिपूर्वक जाप करने से समस्त बाधाएं दूर होती हैं। षडाक्षर का जप आर्थिक प्रगति व समृध्दिदायक है। 

ॐ वक्रतुंडाय नमः । किसी के द्वारा कि गई तांत्रिक क्रिया को नष्ट करने के लिए, विविध कामनाओं कि शीघ्र पूर्ति के लिए उच्छिष्ट गणपति कि साधना किजाती हैं। उच्छिष्ट गणपति के मंत्र का जाप अक्षय भंडार प्रदान करने वाला हैं। 

ॐ हस्ति पिशाचि लिखे स्वाहा । 
आलस्य, निराशा, कलह, विघ्न दूर करने के लिए विघ्नराज रूप की आराधना का यह मंत्र जपे ।

Post A Comment:

0 comments: