Vishnu Dayal ब्यूरो चीफ , फरीदाबाद
Faridabad; 09th November 2017: बेघरों को घर देना 15  लाख से कहीं ज्यादा है। उक्त वाक्य वार्ड 11 के पार्षद मनोज नासवा ने कहे। मनोज नासवा एनआईटी 3 डी पार्क में लोगों को नोटबदली के एक वर्ष पूरा होने पर संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर एक हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया जिसमें लोगों ने नोटबदली सही निर्णय साबित हुआ पर अपनी सहमति जताते हुए हस्ताक्षर किये। मनोज नासवा ने कहा कि जिनके पास अपने मकान नहीं है, उन्हें देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा 2022 तक घर मुहैया कराने का संकल्प लिया गया है जोकि 15 लाख रुपए से कहीं अधिक मूल्यवान है। उन्होंने कहा कि नोटबदली के ऐतिहासिक निर्णय ने देश को एक नई दिशा दी है जिसे देशवासी भूला नहीं पायेंगे। उन्होंने कहा कि हम सभी को देशहित की योजनाओं का लाभ उठाकर देश को आगे बढ़ाने में अपना सहयोग करना चाहिए और सरकार के बताये हुए दिशा निर्देशों का पालन करते हुए देश की तरक्की में अपना सहयोग दे।
विधायक सीमा त्रिखा ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा स्वर्णिम भारत के नवनिर्माण के लिए उठाये गये ऐतिहासिक कदम नोट बदली के फलस्वरूप समाज में पिछडे एवं अभाव ग्रस्त हर उस व्यक्ति के अन्तोदय की सोच के साथ शिक्षा, स्वास्थ्य सुविधाएं, किफायती दरो पर सभी केा छत, कमजोर वर्ग के लिए जन धन खाता, मात्रा 12 रूपये में दुर्घटना बीमा योजना, गरीब बहनो के लिए उज्जवला योजना सहित अन्य कई तरह की जनकल्याण की महत्वपूर्ण योजनाओं से देश का आमजन लाभ उठा रहा है जिसके लिए पूरा ही देश प्रधानमंत्री का आभार जताता है। इस अवसर पर कई वक्ताओं ने अपने विचार रखे और हस्ताक्षर अभियान में स्वयं हिस्सा लेकर हस्ताक्षर कर नोटबदली को पूर्ण समर्थन दिया।
इस अवसर पर जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा, महापौर सुमन बाला, पार्षद मनोज नासवा, राज वोहरा, जोगिन्दर चावला, अमित आहूजा, कर्मवीर बैसला, राधेश्याम भाटिया, दिनेश भाटिया,  विशम्बर भाटिया, अभिनव जैन, हरिंदर भडाना, रामकुमार तिवारी, दलजीत सिंह (रिकें), रीटा गोंसाई, ललित गोंसाई, संजय महेन्दू, प्रियंका कक्कड, मनु सिंह, रजत जैसवाल, पूजा वर्मा, ओमप्रकाश, जयदयाल, संदीप कौर, मंजु गुलाटी, जगदीश भाटिया, के सी शर्मा, मदन थापर, सुनील भडाना, अमित अरोडा, रवि कुमार अरोड़ा, वैभव सहित अन्य गणमान्य लोगों ने इस हस्ताक्षर अभियान में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।



http://www.pkdnewschannelnoi.com

Post A Comment:

0 comments: