ब्यूरो चीफ , vishnudyalफरीदाबाद -


फरीदाबाद 18 दिसंबर – हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल बेटी बचाओ , बेटी पढाओ के सिधान्तो को सार्थक करते हुए  विवाह शगुन योजना के तहत दी जाने वाली आर्थिक सहायता को 41,000 रुपये से बढ़ाकर 51,000 रुपये करने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री आज जिला हिसार के गांव खांडाखेड़ी में वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु के 51वें जन्म दिवस पर परम मित्र मानव निर्माण संस्थान द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में नव दंपत्तियों को आशीर्वाद देने पहुंचे थे।
उन्होंने नव दंपत्तियों को आशीर्वाद स्वरूप 51,000 रुपये, मैरिज सर्टिफिकेट, गैस कनेक्शन व अन्य घरेलू वस्तुएं तथा पौधे भेंट कर उन्हें नए जीवन के लिए शुभकामनाएं प्रदान कीं और वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु के इस प्रयास को सराहनीय बताते हुए दूसरों लोगों से भी इससे प्रेरणा लेने का आह्वान किया। उन्होंने ऐसे पुनीत कार्य में सहयोगी बने गांव खांडाखेड़ी को विकास के लिए एक करोड़ रुपये देने की भी घोषणा की ताकि दूसरे गांवों को भी ऐसे कार्य करने के लिए प्रेरणा मिले।
मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि जीवन में शुभ अवसरों पर इस प्रकार के आयोजन समाज को नई दिशा देते हैं। कैप्टन अभिमन्यु को वित्तमंत्री होने के नाते नहीं बल्कि स्वर्गीय पिता चौ. मित्रसेन आर्य व माता परमेश्वरी देवी से मिले संस्कारों के चलते ऐसा शुभ कार्य करने की प्रेरणा मिली है। सामूहिक विवाह समारोह को पवित्र कार्य बताते हुए उन्होंने कहा कि समाज में ऐसे आयोजनों की बहुत जरूरत है क्योंकि जो परिवार अपनी बेटियों की शादी का खर्च वहन करने में असमर्थ होते हैं, उन परिवारों के लिए ऐसे आयोजन बेहतर विकल्प हैं। प्रदेश में सरकार द्वारा ऐसे परिवारों को मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना के तहत अब तक 41,000 रुपये दिए जाते थे जिसे आज से बढ़ाकर 51,000 रुपये किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस सामूहिक विवाह समारोह में शादी के बंधन में बंधे जोड़ों को भी इस घोषणा का लाभ मिलेगा।
उन्होंने कहा कि बेटियों का विवाह व कन्यादान एक पुण्य कार्य है और समाज के हर वर्ग को इसमें अपना सहयोग करना चाहिए। विधवा व तलाकशुदा महिलाओं की बेटियों की शादी में पूरे समाज को एकजुटता से आगे आना चाहिए ताकि उन्हें कर्ज न लेना पड़े। आज का दिन तभी सार्थक होगा जब हम इस प्रकार के आयोजनों में सहयोग करें और भविष्य के लिए भी संकल्प लें। इससे समाज में साकारात्मक संदेश जाता है।
उन्होंने कहा कि सरकार बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के तहत हर पहलु को गंभीरता से पूरा करवा रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 22 जनवरी,2015 को हरियाणा की धरती से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का आह्वान किया था। सरकार के साथ-साथ ग्राम पंचायतों, विभिन्न संगठनों, एनजीओ व समाज के सहयोग से इस अभियान के अच्छे परिणाम मिले हैं। तीन साल पहले प्रदेश में 1000 लडक़ोंं के पीछे जहां बेटियों की संख्या 835 थी वहीं इस अभियान के चलते 1000 लडक़ों पर लड़कियों की जन्म दर 930 हो गई है जिसे बढ़ाकर 950 तक ले जाना है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भी प्रदेश में इस अभियान की सफलता का जिक्र करते हैं जो हमारे लिए गर्व की बात है। प्रदेश में कन्या भू्रण हत्या रोकने के लिए सरकार ने सख्त कानून बनाए जिनके सार्थक परिणाम अब सामने आ रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने उपस्थितजनों को संकल्प दिलाया कि वे जीवन में कभी भी न तो भू्रण हत्या करेंगे तथा न किसी को करने देंगे। उन्होंने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ तथा स्वच्छता अभियान में सहयोग की शपथ भी दिलाई।
वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि अपने जीवन के 50 वर्ष पूरे होने के अवसर पर आज सोमवती अमावस्या के शुभ अवसर पर उन्हें 53 कन्याओं का कन्यादान करने का पुनीत कार्य करने का सौभाग्य मिला है। उन्हें अपने जीवन में ऐसा जन्मदिन मनाने का पहले कभी अवसर नहीं मिला। उन्होंने बताया कि मैंने राजनीति में आते ही संकल्प लिया था कि जब कभी मुझे सरकारी पद पर रहते हुए जो वेतन मिलेगा उससे मैं गरीब कन्याओं का कन्यादान करूंगा और यह शुभ अवसर आज मुझे मिला है। उन्होंने बताया कि पिछले 3 साल के दौरान मंत्री रहते हुए मुझे सरकार से वेतन के रूप में 16 लाख 65 हजार रुपये मिले जिनका सदुपयोग मैंने इस आयोजन हेतु किया है।
उन्होंने बताया कि मेरे इस कार्य की जानकारी मिलने के बाद माता परमेश्वरी देवी ने कहा कि यह एक नेक कार्य है और बेटियों को जरूरत का सामान देने में किसी प्रकार की कंजूसी न की जाए। यदि तुम्हारे वेतन की राशि कम पड़ी तो हम इस पुनीत कार्य में अपने घर से पैसे लगाकर इसे पूरा करवाएंगे। उन्होंने कहा कि जब मैं इस कार्यक्रम के संबंध में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल से मिला तो उन्होंने भी इसी प्रकार की भावनाएं प्रकट कहते हुए कहा कि यदि जरूरत होगी तो मैं भी अपने वेतन की राशि इसमें देना चाहूंगा। उन्होंने कहा कि इस आयोजन की जानकारी मिलने के बाद हिसार के उपायुक्त निखिल गजराज ने भी कहा कि नव दंपतियों को सरकारी विभागों से मिलने वाली मदद भी दिलाई जाएगी। इसी के तहत आज नवविवाहितों को मैरिज सर्टिफिकेट व अन्य सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। आयोजन में सहयोग करने वाली विभिन्न संस्थाओं व संगठनों का भी उन्होंने आभार व्यक्त किया।
कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि भगवान ने आज जरूर मुझे इन कन्याओं का कोई पिछला कर्ज उतारने का अवसर दिया है और इसके लिए मुझे सामथ्र्य व क्षमता प्रदान की है जिसके लिए मैं भगवान के साथ-साथ अपने स्वर्गीय पिता चौ. मित्रसेन आर्य व माता परमेश्वरी देवी का भी आभार व्यक्त करता हूं। इस पुनीत अवसर पर नवदंपतियों को आशीर्वाद देने आने के लिए उन्होंने मुख्यमंत्री व समस्त उपस्थितगण का आभार प्रकट किया। उन्होंने नवदंपतियों से आह्वान किया कि वे जीवन की नई शुरूआत के साथ इस बात का ध्यान रखें कि उनके विवाह अवसर पर प्रदेश के मुख्यमंत्री खुद उन्हें आशीर्वाद देने आए हैं और इस बात की महत्ता को समझते हुए वे जीवन में समाज व परिवार की जिम्मेदारियों को बखूबी निभाएं।

Post A Comment:

0 comments: