vishnu dayal: ब्यूरो चीफ , फरीदाबाद 
फरीदाबाद  30/12/2017 : कहते है की अगर जीवन में कुछ पाने की ठान लो तो आपको मंजिल पे पहुचने से कोई भी नहीं रोक सकता है | बचपन से ही डॉक्टर बनने का सपना देखने वाली एक माध्यम परिवार की लड़की गरिमा ने आज पुरे फरीदाबाद जिले का नाम रोशन कर दिया है | लखनऊ केजीएमयू  यूनिवर्सिटी मे गरिमा निर्मल ने मेडिकल MBBS में  फर्स्ट पोजीशन पर गोल्ड मैडल प्राप्त किया । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि चेयरमैन वर्ल्ड एकडेमी ऑफ अर्थोइटिक हीलिंग साइंसेज प्रोफेसर बी .एम. हेगड़े रहे। 
 डॉक्टर गरिमा जी कहना है कि उनके परिवार में कोई डॉक्टर नही है। उनके पापा दिनेश निर्मल एक प्राविट कम्पनी में अकाउंटेंट एवं माँ ग्रहणी है। पर गरिमा जी की रुचि को देखते हुऐ आगे पढ़ने की अनुमति दी। और आज डॉक्टर गरिमा निर्मल जी  (बेस्ट स्टूडेंट एमडी पीडियाट्रीक्स ठाकुर उल्फतसिंह गोल्ड मैडल) मिला । डॉक्टर गरिमा जी कहती कि बच्चे उनको बहुत पसंद है। यही कारण रहा की उन्होने केजीएमयू में एमडी पीडियाट्रीक्स में एडमिशन लिया था । बच्चो को केंसर से निजात दिलाएगी ।  बच्चों का इलाज करना सबसे कठिन होता है । ऐसे में उनका इलाज करना एक चेलेंज के बराबर होगा।  और गरिमा जी और आगे पढाई करना चाहती है। क्योकी बच्चों के दर्द को नही देख सकती है । इस लिये उनोहने त्रिवेंद्रम में डीएम पीडियाट्रीक्स ऑन्कोलॉजी में एड्मिसन लिया है।

Post A Comment:

0 comments: