पुलिस के द्वारा हिंदी मैग्जीन के मीडिया प्रभारी नरेंद्र कुमार राठौर उत्तराखंड देहरादून  थाना प्रेमनगर
     
       जनपद देहरादून में कई शिक्षण संस्थानो में अध्ययनरत छात्रो को नशे का शिकार बनाये जाने हेतु कोबरा गैंग के नाम के एक नैटवर्क प्रचलित होने सम्बन्धी प्राप्त सूचनाओं के पश्चात वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदया द्वारा संगठित रूप से संचालित हो रहे उक्त गैंग पर कार्य करने हेतु सहायक पुलिस अधीक्षक देहरादून के नेतृत्व में एक टीम गठित कर गैंग के विषय में विस्तृत सूचनाए एवं साक्ष्य संकलन कर कार्यवाही किए जाने हेतु निर्देशित किया गया । गठित टीम में एसओजी, थाना प्रेमनगर व थाना बसंतविहार पुलिस को सम्मिलित किया गया।
कोबरा गैंग के विषय में सूचना संकलन के दौरान यह बात प्रकाश में आयी कि इस गैंग के सदस्यों द्वारा  विभिन्न शैक्षणिक संस्थानो में नशे का अवैध कारोबार फैलाया जा रहा है तथा इनके द्वारा  बाहरी जनपदों से आये छात्रों को  टारगेट कर नशे का आदी बनाकर उनके माध्यम से अन्य टारगेट तलाश किए जा रहे है। उक्त के अतिरिक्त इस गैंग के सद्स्यों द्वारा सोशल मीडिया के माध्यम से भी नशे का कारोबार किए जाने की बात ज्ञात हुयी ।
              उक्त समबन्ध में प्रचलित कार्य के दौरान आज दिनांक 25/12/17 को प्रातः सहायक पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारी सदर को सूचना प्राप्त हुई कि स्मैक की तस्करी करने वाले अन्र्तराजीय गिरोह के कुछ सदस्य आज देहरादून पहुचँ कर सैलाकुई में सप्लाई करने के बाद प्रेमनगर की ओर आ रहे है। सूचना पर विश्वास पर ए.एस.पी सदर द्वारा टीम के साथ चौकी झाझरा पर प्रारम्भ की गयी चैकिग के दौरान  धूलकोट की तरफ से आती हुई एक सफेद गाडी को रोकने का इशारा किया तो उक्त गाडी के चालक द्वारा गाडी को  बैक करके भागने का प्रयास किया गया जिसको टीम द्वारा घेर कर पकड लिया गया। गाडी की तलाशी लेने पर उसमें पांच युवको से अलग-अलग कुल से 280 ग्राम स्मैक , 1,20,000/- रूपये नगद व अवैध तमंचा बरामद हुआ। पूछताछ में अभियुक्त अजीत, रजत पुष्पेन्द्र निवासीगण देहरादून द्वारा नशे के कारोबार से मोटी रकम कमाने के लालच में बरेली निवासी शेरदिल खान व शाहिद से स्मैक प्राप्त कर देहरादून के विभिन्न कालेज के छात्र-छात्रों व सेलाकुई स्थितऔद्योगिक क्षेत्र के श्रमिकों को सप्लाई करने की बात स्वीकार की गई तथा बरामद 1 लाख 20 हजार रूपये सेलाकुई में विभिन्नों ग्राहकों को स्मैक बेचकर प्राप्त होने की बात बताई गई ।
देहरादून में अवैध रूप से स्वापक पदार्थों की तस्करी में सलिंप्त इस अन्तर्राज्यीय गैंग के सद्स्यों से विस्तृत एवं गहन पूछताछ से उनके अपराध के तरीके, नेटवर्क के अन्य स्दस्यों, आर्थिक लाभ प्राप्ति आदि के विषय में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई है। पूछताछ से स्पष्ठ हुआ है कि अभियुक्त गण अत्यन्त  शातिर किस्म के अपराधी है। पूछताछ के दौरान अभियुक्त गण द्वारा स्मैक आदि नशीले पदार्थों के अवैध कारोबार से चल-अचल सम्पति अर्जित किए जाने की पुष्ठि हुई है जिसके आधार पर अग्रेतर कार्यवाही की जा रही है। जनपद पुलिस द्वारा स्वापक पदार्थों के विरूद प्रभावी कार्यवाही के सकारात्मक परिणाम प्राप्त हुए है जिसमें जनपद में स्वापक पदार्थों की बिक्री करने वाले अपराधियों के अतिरिक्त इन व्यक्तियों को नशीले पदार्थों की सप्लाई करने वाले दूसरे राज्यों के व्यक्तियों तथा जनपद की सीमा से परिवहन कर अन्य प्रान्तों को ले जारहे अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है।जनपद देहरादून में इस वर्ष अब तक कुल  86किलो 971 ग्राम चरस,  04किलो 532 ग्राम  स्मैक,  11 किलो 283 ग्राम अफीम, 100 ग्राम हेरोइन,  70 किलो  गांजा,  73किलो  200 ग्राम  भांग पत्ती, 128 किलो डोडा पोस्त,  16855 नशीली गोलियाँ,  6647नशीले इंजेक्शन, 20867 नशीले कैप्सूल, 08 एल.एस.डी. बरामद हुई है।जिसमें कुल 391 अभियोग पंजीकृत किये गये जिसमें 539 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।
अपराध का तरीका-
अभियुक्त गण द्वारा वाट्सअप , फेसबुक व सोशल मीडिया के माध्यम से अपने ग्राहकों से स्मैक की  बुकिंग प्राप्त करने  के  उपरान्त माल को बुकिंग के अनुसार पर्चियां / पैकेट बनाकर अलग- अलग टीमें तैयार कर ग्राहकों को सप्लाई किया जाता है। सबसे पहले अजीत एवं पुष्पेन्द्र माल को बाटंने का रूट तय करते है। फिर इनका अपना कोई एजेंट स्कूटी से पूरे रोड की रैकी करता है और रूट क्लीयर करने के पश्चात दूसरा व्यक्ति माल की डिलीवरी करता है। इस दौरान कोई भी किसी से मौबाइल पर वार्ता लाप नही करता है। केवल अजीत के द्वारा ही ग्राहक से सम्पर्क किया जाता है।

विशेष:-
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून महोदया के निर्देशन में नशे के विरूध चलाये जा रहे अभियान को प्राथमिकता के आधार पर निरन्तर जनपद पुलिस द्वारा नशे एवं स्वापक पदार्थों कारोबार करने के विरूध कार्यवाही जारी रहेगी एवं नशे एवं स्वापक पदार्थों के अन्य नेटवर्क के बारे में भी जानकारी करने के प्रयास किए जा रहे है।

नाम पता अभियुक्त गण:-
1. शेरदिल खान पुत्र शेर अली खान निवासी माधवपुर माफी मौहल्ला इस्लाम नगर थाना फतेहगंज बरेली उत्तरप्रदेश
2. अजीत पुत्र श्री वीर सिंह निवासी रायुपर रोड सर्वे चौक देहरादून
3. पुष्पेन्द्र पुत्र श्री जयप्रकाश शर्मा निवासी करनपुर देहरादून।
4. शाहिद पुत्र श्री मुस्ताक निवासी ग्राम इस्लाम पुर तहसील मीरगंज थाना फतेहगंज बरेली उ0प्र0।
5. रजत जैसवाल पुत्र श्री राकेश जैसवाल निवासी करनपुर थाना डालनवाला।

बरामद माल का विवरण-
1. 280 ग्राम स्मैक  (अन्तर्राष्ट्रीय मूल्य करीब 30 लाख रूपये )
2. 1,20,000/- रूपये नगद
3. एक अवैध तमंचा
4. 01 कार तस्करी में प्रयुक्त बरामद।

पुलिस की टीम-
1. श्री लोकेश्वर सिहं ए0एस0पी0 प्रभारी नारकोटिक्स सेल
2. श्री चन्द्रमोहन सिहं नेगी क्ष्रेत्राधिकारी नगर।
3. श्री मुकेश त्यागी प्रभारी थानाध्यक्ष प्रेमनगर।
4. श्री संजय मिश्रा प्रभारी थानाध्यक्ष बसंत विहार।
5. श्री पी.डी.भट्ट प्रभारी एस.ओ.जी।
6. श्री शिशुपाल राणा चौकी प्रभारी झाझरा।
7. श्री प्रवीण सैनी  थाना प्रेमनगर।
8. का0 चमन थाना प्रेमनगर
9. का0 प्रमेन्द्र थाना प्रेमनगर
10. का0 डब्बल सिहं थाना बसंतविहार।
11. का0 नरेन्द्र थाना बसंत विहार।


पुलिस टीम एस.ओ.जी-
1. श्री पी.डी.भट्ट प्रभारी एस.ओ.जी
2. हे0का0 (प्रो0) सुशील कुमार।
3. का0 ललित
4. का0 अमित
5. का0 राजीव
6. का0 आशीष नैनवाल।
7. का0 प्रमोद, का0 आशीष( सर्विलांस टीम)

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून महोदया द्वारा पुलिस टीम को 2500/- रू० पुलिस उपमहानिरीक्षक, गढवाल परिक्षेत्र महोदय द्वारा 5000/- का ईनाम दिया जाएगा।

Post A Comment:

0 comments: