पुलिस के द्वारा हिंदी मैगजीन के मीडिया प्रभारी नरेंद्र कुमार राठौर उत्तराखंड देहरादून।।           कोतवाली पटेलनगर, देहरादून* 

 श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय के निर्देशन में श्रीमान पुलिस अधीक्षक नगर / सहायक पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारी सदर महोदय के दिशा निर्देशन में जनपद में बढ़ती नकबजनी / चोरी की रोकथाम हेतु प्रभारी निरीक्षक थाना पटेलनगर के नेतृत्व में अलग -अलग टीमें सादे वस्त्रों में गठित की गयी । प्रभारी निरीक्षक पटेलनगर द्वारा थाना / चौकी पर नियुक्त सभी उ0नि0गण एवं दिन -रात्रि की चीता मोबाइल , गश्त , पिकेट कर्मचारीगण की मीटिंग लेकर आवश्यक दिशा - निर्दश निर्गत करते हुए चोरी एवं नकबजनी की घटनाओं पर प्रभावी अंकुश लगाने हेतु दिन - रात्रि में संदिग्धों की पहचान / चैकिंग करने का अभियान चलाया गया । जिसके क्रम में थाना पटेलनगर पर पूर्व में पंजीकृत मु0अ0सं0 418 /17 धारा 380 भादवि , मु0अ0सं0 501/17 धारा 454 / 380 भादवि , मु0अ0सं0 548 /17 धारा 457 / 380 भादवि के अनावरण हेतु थाना पटेलनगर के वरिष्ठ उपनिरीक्षक एवं चौकी प्रभारी बाजार के साथ गठित टीमों द्वारा पतारसी -सुरागरसी करते हुये मुखबिरों की सहायता से दिनांक 12 /12/2017 को ब्राहमणवाला , महबूब कालोनी में कबाड़ी बाजार से नीले रंग की वेगनआर कार बिना नम्बर को रोक कर चैक किया गया तो चालक सीट पर बैठे लडके एवं पिछली सीट पर बैठे दो लडको में से एक लडके को पकड लिया तथा पिछली सीट पर बैठा एक अन्य लडका बिन्दाल नदी की तरफ गाडी से तेजी से उतरकर भाग गया। उपरोक्त पकडे गये दोनो लडको से मुकदमा उपरोक्त से सम्बन्धित माल की बरामदगी मौके पर की गयी। दोनो लडको ने पूछताछ में बताया कि हमारा एक  गैंग है।  हम लोग पहले चोरी के मुकदमों में दिल्ली में एक साथ तिहाड जेल में बन्द रहे। हमारा मुख्य पेशा चोरी करना है, हमसे जो कार बरामद हुई है, वह चोरी की है, हमारे साथ का जो लडका भागा, उसने इसे दिल्ली से कहीं से चोरी की है। दिनांक 07- 12 -17 को हम तीनों लडके इस वेगन आर कार से हरिद्वार के रास्ते होते हुए देहरादून आये थे। हमने यहां दिनांक 07/12/17 को एमडीडीए कॉलोनी में एक घर में घुसकर ताला तोडकर चोरी की है । इसके अलावा हम पूर्व में कई बार देहरादून इसी वेगन कार से चोरी के इरादे से आ चुके हैं । हम लोग दिन के समय वेगन आर कार से घूम - घूम कर रैकी करते हैं व ताला बन्द घरों में मौका पाकर घुसकर चोरी करते हैं। इनके द्वारा यह बात भी महत्वपूर्ण बतायी गयी कि जब हम कोई घटना घटित करते हैं तो अपने वाहन को घटनास्थल से 500 मीटर दूर खडी कर देते हैं व अपने सारे मोबाइल स्विच ऑफ करके कार में रख देते हैं, जिस कारण से इनको सर्विलांस के माध्यम से ट्रेस किया जाना नामुमकिन होता है। अभियुक्तगण  अपने मोबाईल में अपने साथियों व  परिजनो व रिश्तेदारों के नम्बर नाम से SAVE नही करते है, केवल मोबाइल नम्बरो के लास्ट के तीन नम्बरो से याद रखते है, ताकि पुलिस उनके परिजनो व साथियों व रिश्तेदारो के सम्बन्ध में न जान सके।

अभियुक्त शातिर किस्म के चोर हैं जो पूर्व में दिल्ली से कई मामलों में जेल जा चुके हैं । पकडे गये अभियुक्तों के बारे में जानकारी करने पर अभियुक्त इरशाद के विरुद्ध दिल्ली के विभिन्न थानों में चोरी / लूट के 18 अभियोग पंजीकृत हैं एवं अभियुक्त इरशाद थाना जहांगीरपुरी दिल्ली का एक हिस्ट्रीशीटर अपराधी है।


 नाम पता अभियुक्तगण :-

1 - मुकेश कुमार पुत्र रघुवीर पाल गि0 ए - 471 / 1 ए - ब्लॉक सूरज पार्क बादली नई दिल्ली
2 - इरशाद पुत्र जगीर नि0 एन - 38 बी - 23 जहांगीरपुरी सी - ब्लॉक नई दिल्ली ।

 फरार अभियुक्त का विवरण :-

1 - इरफान नि0 जह…

Post A Comment:

0 comments: