एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल रणजी ट्रॉफी में बड़ौदा के लिए सिर्फ एक मैच खेलने वाले पठान ने ब्रोजीट नामक दवाई ली, जिसमें टरब्यूटलाइन पदार्थ मिला हुआ था। जहां टरब्यूटलाइन प्रतिबंधित पदार्थ है, वहीं कोई खिलाड़ी इसे तभी ले सकता है जब वह पहले से इसकी अनुमति ली। रिपोर्ट में कहा गया है कि न तो पठान ने और ना ही टीम डॉक्टर ने इसकी पहले कोई अनुमति ली।

रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने के बाद बीसीसीआई ने बड़ौदा से पठान को शेष टूर्नामेंट में शामिल नहीं करने के लिए कहा था। वैसे पठान ने पिछले साल अक्टूबर से क्रिकेट नहीं खेला है। अब दिल्ली के तेज गेंदबाज प्रदीप सांगवान के बाद पठान डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने वाले दूसरे भारतीय क्रिकेटर बन गए हैं। 

हाल ही में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने बड़ौदा के राज्य संघ को हाल ही में संपन्न रणजी ट्रॉफी सीजन के लिए युसूफ पठान को टीम में शामिल नहीं करने के लिए कहा था। दरअसल, पिछले साल टूर्नामेंट के दौरान युसूफ पठान डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए। उन्हें प्रतिबंधित पदार्थ टरब्यूटलाइन लेने के लिए पॉजिटिव पाया गया।

टीम इंडिया के ऑलराउंडर युसूफ पठान को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने पांच महीनों के लिए सस्पेंड कर दिया है। पठान पर डोपिंग नियमों का उल्लंघन करने का आरोप है। 

Post A Comment:

0 comments: