पुलिस के द्वारा हिंदी मैग्जीन के मीडिया प्रभारी नरेंद्र कुमार राठौर उत्तराखंड देहरादून।।
 कोतवली डोईवाला

दि0 28/03/17 को वादी श्री मनोज कुमार S/o श्री बृजभूषण गन्ना प्रबन्धक शुगर मिल डोईवाला देहरादून की लिखित तहरीर पर अभियुक्त हरवीर सिंह S/o प्रेम सिंह R/o मोहसनपुर पो0ऑ0 नारायणपुर जिला अलीगढ उ0प्र0 के विरूद्ध थाना डोईवाला पर मु0अ0सं0 84/17 धारा 167/418 IPC पंजीकृत हुआ। जिसकी विवेचना SI सुरेश चन्द्र बलूनी के सुपुर्द की गयी। FIR में वादी के द्वारा 08 बुकें शीघ्र प्रजाति की गुम होना बताया गया तथा बताया गया कि गुम हुई बुकों का प्रयोग गन्ना तौल लिपिक हरवीर सिंह द्वारा अपने गन्ना क्रय केन्द्र धनौरी, जस्सोवाला व टांटवाला में गन्ना किसानों को गन्ना तौल पर्ची के रूप में किया। दौराने विवेचना कुल 15 बुकों का शुगर मिल डोईवाला के रिकॉर्ड रूम से गायब होना पाया गया। इन गायब बुकों का प्रयोग अभियुक्त हरवीर सिंह व अभियुक्त प्रवीण कुमार द्वारा किया गया। अभियोग पंजीकृत होते ही मुख्य अभियुक्त हरवीर सिंह शुगर मिल डोईवाला से फरार हो गया, जिसको काफी तलाश करने पर भी कुछ पता नही चल पाया। दौराने विवेचना से जानकारी हुई कि गन्ना पिराई सत्र वर्ष 2016-17 के माह मार्च 2017 में चोरी की गई बुकों की पर्चियों का प्रयोग गन्ना तौल के बदले में गन्ना किसानों के लिए किया गया। किसानों के द्वारा उक्त पर्चियों को भुगतान हेतु प्रस्तुत करने पर जब भुगतान नही हुआ तो गन्ना किसानों द्वारा इस पर शुगर मिल डोईवाला में आकर हंगामा किया गया व विभिन्न स्तरों से अपने गन्ने के भुगतान हेतु अपनी बात पहुंचायी गयी। जिस पर शासन स्तर से जांच हेतु पुलिस अधीक्षक ग्रामीण महोदया देहरादून की अध्यक्षता में SIT का गठन किया गया। दौराने जांच यह प्रकाश में आया कि गन्ना तौल पर्ची व बुक जारी करने के लिए ऑफिस में किसी एक व्यक्ति को जिम्मेदारी नही दी गयी थी। गन्ना इन्सपैक्टर व गन्ना प्रबन्धक द्वारा नियमित अन्तराल पर गन्ना क्रय केन्द्रों से गन्ना तौल लिपिकों की बदली नही की गयी। गन्ना क्रय केन्द्रों पर गन्ना किसानों को गन्ना डालने की ऐवज में तुरन्त तौल पर्चियां नही दी जा रही थी, गन्ना क्रय केन्द्र से नियमित रूप से गन्नों का उठान नही हो पा रहा था व गन्ना क्रय केन्द्रों से नियमित रूप से डाक शुगर मिल में नही आ रही थी, जिस सम्बन्ध में गन्ना प्रबन्धक द्वारा गन्ना तौल लिपिक के विरूद्ध कोई कार्यवाही नही की गयी। विवेचना से पूर्व में अभियुक्तगण 1- प्रवीण कुमार S/o गुलाब सिंह R/o गन्देवडा थाना गढी पुख्ता जिला शामली उ0प्र0 व 2- रमेश कुमार सिंह S/o अमर पाल सिंह R/o रामपुर बवहरिया थाना आसुपुर जिला प्रतापगढ उ0प्र0 को धारा 167/418/120 B IPC में दि0 19/12/17 को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। मुख्य अभियुक्त हरवीर सिंह की तलाश हेतु विभिन्न टीमों को लगाया गया था जिसमें आज दि0 10/01/18 को मुख्य अभियुक्त हरवीर सिंह को नेपाली तिराहा थाना रायवाला देहरादून के पास से गिरफ्तार किया गया। मुख्य अभियुक्त हरवीर सिंह से पूछताछ करने पर बताया कि उपरोक्त घोटाला मुझ पर बहुत अधिक कर्जा हो जाने पर व मेरे गांव से भी मुझ पर लगभग 60-70 लाख रूपये कर्जा होने के कारण मैनें व प्रवीण कुमार से मिलकर किया था। हम काफी समय से गन्ना तौल लिपिक के रूप में कार्य कर रहे थे। गन्ना डालने वाले किसानों के हम पर विश्वास था इसलिए मेरे द्वारा गन्ना किसानों से पैसा लेकर बिना उनको गन्ना डाले उनको शुगर मिल डोईवाला से जारी असली पर्चियां व मिल से चोरी की गई पर्चियां दे दी थी व ऐसे किसान जिनके द्वारा गन्ना क्रय केन्द्रों पर गन्ना डाला गया था, उन्हें भी असली व नकली पर्चियां दी गई थी। अभियुक्त हरवीर सिंह से पूछताछ व मिल से प्राप्त प्रपत्रों के अवलोकन से उक्त प्रकरण में लगभग 40 लाख रूपयों का घोटाला होना पाया गया है, जिनमें कुछ प्रकरण ऐसे भी है कि किसानों द्वारा बिना गन्ना डाले ही तौल लिपिक से गन्ना पर्चियां प्राप्त की गई। अभियुक्त को गिरफ्तार कर मा0 न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है। गिरफ्तार अभियुक्त हरवीर सिंह ईनामी अपराधी है, जिस पर 2500/- र ईनाम घोषित है।

पुलिस टीमः-

1- निरीक्षक ओमवीर सिंह रावत, थाना प्रभारी डोईवाला।
2- SSI योगेन्द्र सिंह गुसांई
3- SI सुरेश चन्द्र बलूनी
4- HCP राजकुमार
5- का0 रविन्द्र टम्टा
6- का0 प्रमोद कुमार (SOG)
7- L/C मोनिका (SOG)

Post A Comment:

0 comments: