विष्णु दयाल ,ब्यूरो chief Faridabad

फरीदाबाद 14/03/2018: आज उत्तर प्रदेश की लोकसभा की दोनों सीटों गोरखपुर और फूलपूर पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को मिली हार पर प्रतिक्रिया देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि अतिआत्मविश्वास के चलते पार्टी को दोनों सीटों पर पराजय का सामना करना पड़ा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पार्टी इस हार की समीक्षा करेगी। आदित्यनाथ ने कहा कि देश के विकास को बाधित करने के लिए 'राजनीतिक सौदेबाजी' हुई है जिसे जनता आगे सफल नहीं होने देगी। उन्होंने कहा कि उप चुनाव में स्थानीय मुद्दे हावी होते हैं जबकि आम चुनाव राष्ट्रीय मुद्दों पर लड़े जाएंगे।
बता दें कि उपचुनाव में गोरखपुर और फूलपुर की दोनों सीटों पर समाजवादी पार्टी के उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की। गोरखपुर से प्रवीन कुमार निषाद ने भाजपा के उम्मीदवार उपेंद्र शुक्ल को और फूलपुर से नागेंद्र पटेल ने भाजपा के ही कौशलेंद्र पटेल को हराया। योगी ने कहा, 'देश के विकास को बाधित करने के लिए राजनीतिक सौदेबाजी हुई। ये जनता का फैसला है। हम जनता के फैसले को स्वीकार्य करते हैं।' मुख्यमंत्री ने गोरखपुर और फूलपुर में जीत हासिल करने वाले सपा के दोनों उम्मीदवारों को बधाई भी दी।
योगी ने कहा, 'ये दोनों चुनाव एक सबक हैं। इन दोनों की समीक्षा आवश्यक है ताकि हम भविष्य में बेहतर प्रदर्शन कर सकें।'
योगी आदित्यनाथ ने कहा, 'राजनीतिक सौदेबाजी करने का दौर शुरू हुआ है और यह बात प्रदेश की जनता की समझ में आ जाएगी। हमारी हार की एक वजह कम मतदान का होना भी है। उप चुनाव में स्थानीय मुद्दे काम करते हैं जबकि आम चुनाव राष्ट्रीय मुद्दों पर लड़े जाते हैं।' इस बीच उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, 'हमने नहीं सोचा था कि बसपा का वोट इस तरह एसपी को ट्रांसफर हो जाएगा। हम भविष्य में बसपा, कांग्रेस और सपा के साथ आने की स्थिति के लिए तैयार रहेंगे और 2019 के चुनाव जीतने के लिए रणनीति बनाएंगे।'

Post A Comment:

0 comments: