विष्णु दयाल ,ब्यूरो चीफ (फरीदाबाद)

फरीदाबाद 20/03/2018: पत्रकार व पुलिस का रिश्ता समाज रूपी गाड़ी के उन दो पहियों के समान होता है जिस पर क़ानून व्यव्स्था समाज में सुचारू रूप से चलती है | पत्रकार कई बार समाज के अंदर व्याप्त भ्रष्टाचार व प्रशासनिक अधिकारियों के मनमानी रवेये पर अंकुश लगाने का कार्य करता है | परन्तु आज  यूपी के बरेली में ट्रेनी आईपीएस ने पत्रकारों के लिए एक तुगलकी फरमान जारी किया है। आईपीएस ने पत्रकारों के थाने में जाने पर रोक लगा दी है। इस फरमान के अनुसार पत्रकार अब दिन में एक बार ही थाने जा सकते हैं। आईपीएस ने बार-बार थाने में जाने पर रोक लगा दी है। यही नहीं न मानने पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए है।
-दरअसल जिले के एएसपी अशोक कुमार मीणा ने सभी थाना प्रभारियो को एक पत्र लिखकर यह तुगलकी फरमान जारी किया है।
-इस पत्र में कहा गया है कि सभी को आदेश दिए है कि थाने में किसी भी पत्रकार को घुसने नहीं दिया जाए।
- ट्रेनी आईपीएस के इस फैसले से पत्रकारों में काफी आक्रोश है।
-पत्रकार ट्रेनी आईपीएस के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे है।

Post A Comment:

0 comments: