विष्णु दयाल ,ब्यूरो चीफ (फरीदाबाद)

फरीदाबाद 14/04/2018: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने देश की सत्ता सम्भालने के बाद देश के विकास के लिए कई कड़े फैसले लिए , जिसका कई विपक्ष पार्टियों ने काफी विरोध किया |परन्तु देश की जनता काफी हद तक मोदी जी के फैसले के साथ खड़ी दिखी |
परन्तु पिछले कुछ महीनों में कुछ भ्रष्ट विधायकों की करतूतों ने प्रधानमंत्री की चार साल की मेहनत पर पानी फेर रहे है |
 प्रदेश में बढ़ रहे अपराध और बलात्कार की घटनाओं को लेकर पुरे देश में भारतीय जनता पार्टी को देश की जनता का विरोध झेल रही है | आलम यह है की बीजेपी के योग्य कार्यकर्ताओं व नेताओं को भी जनता शक की नजरों से देख रही है |
इलाहाबाद जिले के शिवकुटी मोहल्ले में एक नए तरह का विरोध दिखाई दिया।मोहल्ले के लोगो ने अपने घरों के सामने पोस्टर लगाए हैं जिसमे लिखा है कि भाजपा के कार्यकर्ताओं और नेताओं का प्रवेश वर्जित है क्योंकि यहां बच्चियां और महिलाएं रहती हैं |
मोहल्ले के लोगो की माने तो देश मे जिस तरह बलात्कार की घटनाओं में भाजपा नेताओं का नाम आ रहा है | उस कारण लोगो के मन मे महिलाओ की सुरक्षा को लेकर डर है | जिस कारण उन्होंने ये पोस्टर लगाए है । बताते चलें कि केरल में उपचुनाव है,यहाँ भी लोगों ने अपने घरों पर हाथ से लिखे ऐसे नोटिस चिपका रक्खे हैं,पिछले दिनों हुए कठुआ और उन्नाव की घटना से लोग काफी आहत हैं,दोनो घटनाओं में भाजपा के लोगों की संदिग्ध भूमिका रही है |
उन्नाव वाली घटना में आरोपी खुद भाजपा के विधायक हैं तो कठुआ वाले में भाजपा के मंत्री विधायक आरोपियों को बचाने की हर संभव कोशिश कर रहे हैं | शायद यही वजह है जो लोगों ने अपने घरों के बाहर ऐसे पोस्टर लगा रक्खे हैं।
इससे पहले केरल में भी इस तरह के पोस्टर लग चुके है | केरला की चेंगानुर विधानसभा में उपचुनाव होने वाले हैं | चेंगानुर में लोगों ने अपने घरों के बाहर पोस्टर लगा दिया है |पोस्टर्स में लिखा है कि ,’इस घर में दस वर्ष से कम उम्र की बच्ची रहती है, भाजपा से जुड़े लोग यदि वोट मांगने आएं तो कृप्या करके अंदर कदम न रखें’।

Post A Comment:

0 comments: