विष्णु दयाल , ब्यूरो चीफ फरीदाबाद (हरियाणा)


फरीदाबाद 31/05/2018:  (विजय थपलियाल की रिपोर्ट) फरीदाबाद के पुलिस आयुक्त श्री अमिताभ सिंह ढिल्लो ने पुलिस प्रशासन को शख्त हिदायत दे रखी है  कि पुलिस के आला अधिकारी आम नागरिको के साथ विनम्रता से पेश आये, तथा पब्लिक के साथ मित्रता का व्यवहार स्थापित करे | परन्तु क्षेत्र के पुलिस अधिकारीयो के व्यवहार में कोई विशेष फर्क दिखाई नहीं देता | आज एक बार फिर फरीदाबाद में सेवा सुरक्षा सहयोग का दावा करने वाली महिला पुलिस का असली चेहरा उस वक्त सामने आया। जब एक मां अपनी 7 साल की बच्ची के लिये इंसाफ मांगने के लिये महिला थाना सेक्टर 16  पहुंची। जहां महिला पुलिसकर्मी ने पीड़ित परिजनों के साथ ही हाथपाई की। इस दौरान बच्ची की मां थाने में ही बेहोश हो गई।

दरअसल, फरीदाबाद खेडी पुल थाना क्षेत्र के नहर किनारे बसी झुग्गियों में रह रहे एक परिवार घर के अंदर सो रहे था। परिजनों ने बताया कि अचानक जब उनकी नींद खुली तो देखा की बच्ची गायब है। इधर-उधर तलाश की लेकिन जब वह नहीं मिली तो इसकी सूचना पुलिस कंट्रोल को दी। पुलिस बच्ची को काफी देर तक ढूंढती रही लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। 
आखिरकार परिजनों ने एक व्यक्ति को झाड़ियों में देखा। जब वह उसके पास पहुंचे तो देखा कि उसकी बच्ची बेहोश घायल अवस्था में पडी हुई थी और पास में एक युवक आपत्तिजनक हालत में बैठा हुआ था। जिसे परिजनों ने पकडकर रात को ही महिला थाने में बंद करवा दिया।

मगर महिला पुलिस आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज करने की बजाय उल्टा बच्ची को ही डरा धमकाकर पूछताछ करने लगी। इस दौरान पुलिस ने न तो लीगल एडवाईजर को थाने में बुलाकर बच्ची के बयान करवा और न ही मेडिकल करवाया। जब इसका विरोध परिजनों ने किया तो उनके साथ धक्का मुक्की की गई जिसके बाद महिला थाने में जमकर हंगामा हुआ।

इस खबर को कवर करने के लिये जब पत्रकार महिला थाने में पहुंचे तो उनके साथ महिला थाने की इंचार्ज ने बदसलूकी की और हंगामा करवाने का आरोप लगाते हुए कहा कि अब आपके खिलाफ ही मामला दर्ज करुंगी। जिसपर पत्रकारों ने डीसीपी भूपेन्द्र सिंह से मुलाकात की और शिकायत लिखकर दी। जिसके बाद पीड़ित परिजनों का मामला दर्ज किया गया और पत्रकार के साथ हुई बदसलूकी की जांच करवाने की बात कही।
वहीं, इस बारे में महिला थाना के एसीपी पूजा डाबला से बात की गई तो उन्होंने बताया कि थाने में हुए हंगामे की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही सामने आएगा कि कौन दोषी है। वहीं पुलिस ने परिवार के बयान पर मामला दर्ज कर लिया है और इस पूरे मामले में उन्होंने एक युवक को गिरफ्तार भी किया है।

Post A Comment:

0 comments: