विष्णु दयाल , ब्यूरो चीफ फरीदाबाद (हरियाणा)

फरीदाबाद 11/05/2018: फरीदाबाद के  एसजीएम नगर की गली नंबर चार के मकान नंबर 2625 में रहने वाले नन्द किशोर लाल चार हफ्ते से बहुत परेशान हैं। नन्द किशोर का कहना है कि 25  दिन पहले वो तीन नंबर बिजली दफ्तर अपने बिजली का बिल लेने गए थे। बिजली  अधिकारियों ने जैसे ही उन्हें उनका बिल सौंपा बिल देख कर उन्हें चक्कर आने लगा और उनकी आँखों के आगे अँधेरा छा गया क्यू कि 80 लाख रूपये से ज्यादा था। नन्द किशोर ने बताया कि इसके पहले वाला बिल 2125 रूपये भरा था लेकिन अब 90 लाख का पकड़ा दिया गया है। उन्होंने कहा कि जिस मकान में वो रहते हैं उस मकान को उन्होंने धनपत नाम के व्यक्ति से खरीदा था और मीटर धनपत के नाम से था लेकिन पिछली बार जब 2125 रूपये का बिल आया तो इस बार नब्बे लाख का कैसे आ गया जबकि पिछली बार का कोई भी बकाया नहीं था। नन्द किशोर का कहना है कि 25 दिन से वो अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं। अधिकारी कभी तीन नंबर भेजते हैं कभी चार नंबर और कभी कहीं और और इस तरह दौड़ते दौड़ते मैं थक गया हूँ। उन्होंने कहा कि गर्मी में चार हफ्ते दौड़ते दौड़ते मैं बीमार हो गया हूँ और अब मैं अधिक दौड़ नहीं सकता।
मालूम हो कि फरीदाबाद में ऐसे कई कई लाखों के बिल कई बार अलग अलग जगह के लोगों के आ चुके हैं। बिजली अधिकारियों और कर्मचारियों की घोर लापरवाही का खामियाजा जनता को भुगतना पड़ता है। इस मामले में भी बड़ी लापरवाही देखी जा रही है।

Post A Comment:

0 comments: