विष्णु दयाल , ब्यूरो चीफ फरीदाबाद (हरियाणा)

फरीदाबाद 25/05/2018: पिछले 16 दिनों से चल रही फरीदाबाद नगर निगम कर्मचारियों की हड़ताल गुरुवार खत्म हो गई। नगर पालिका कर्मचारी संघ के जिला प्रधान ने कहा कि अब शुक्रवार से सफाई कर्मचारी काम करना शुरू कर देंगे। इससे पहले इस हड़ताल की वजह से पूरा शहर कूड़े से अटा पड़ा रहा। नौबत यहां तक आ गई कि नगर निगम को पुलिस की मौजूदगी में निजी कर्मचारियों से शहर में सफाई करानी पड़ी। इतना ही नहीं इस दौरान कई जगहों पर इन कर्मचारियों से झड़प भी हुई। कर्मचारियों ने हर तरह से हड़ताल को सफल बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी।
प्रयास विफल रहा और कर्मचारियों ने अपना आंदोलन और भी तेज कर दिया। जिसे देखते हुए सरकार ने गुरूवार को फिर से कर्मचारी नेताओं को बैठक के लिए आमंत्रित किया। इस मीटिंग में नगर निगम फरीदाबाद से कमिश्नर मोहम्मद शाईन, जॉइंट कमिश्नर आशुतोष राजन व चीफ इंजीनियर डीआर भास्कर भी मौजूद रहे।
सिविल सर्जन ने चेताया था : हड़ताल के दौरान सिविल सर्जन ने नगर निगम कमिश्नर को पत्र लिखकर शहर में बढ़ रहे कचरे के ढेरों से महामारी फैलने का खतरा जताया। सिविल सर्जन ने कहा कि इस कचरे से हैजा, डायरिया, मलेरिया, टायफायड आदि बीमारियां हो सकती हैं। ऐसे में शहर की सड़कों से कूड़ा नहीं उठने पर समस्या विकराल हो सकती है।
रोजाना इकट्ठा हो रहा था कूड़ा : 600 मीट्रिक टन कूड़ा रोजाना शहर से निकलता है। ऐसे में हड़ताल के दौरान शहर में हर जगह कूड़े का ढेर लगता गया। स्वास्थ्य के नजरिए से देखा जाए तो करीब 70 मरीज डायरिया के इस दौरान रोजाना बीके अस्पताल पहुंचे। हड़ताल के दौरान नगर निगम के करीब 4000 कर्मचारियों ने काम बंद कर रखा था।

नगर पालिका कर्मचारी संघ के जिला प्रधान बलबीर बाल गुहेर ने बताया कि प्रदेश के सफाईकर्मियों की अधिकतर मांगों मानने को राज्य सरकार ने सहमति बन गई। राज्य सरकार ने कर्मचारियों की रेगुलर करने की मांग को मानते हुए एक कमिटी बनाने की बात कही है। हड़ताल के खत्म होने की घोषणा के बाद सभी सफाई कर्मचारी शुक्रवार से काम करना शुरू कर देंगे और शहर का सारा कूड़ा साफ कर देंगे।

Post A Comment:

0 comments: