विष्णु दयाल , ब्यूरो चीफ फरीदाबाद (हरियाणा)
फरीदाबाद 08/05/2018:  मानवता को शर्मसार करने वाली यह खबर बिहार के सिवान की है | शिक्षा और विकास को लेकर बिहार सरकार भले ही रोज नये-नये दावे कर  रही है | लेकिन सिवान की यह तस्वीर यह बताने के लिए काफी है कि पूरा सिस्टम सड़ चुका है | सिवान के दरौली प्रखंड के मध्य विद्यालय उकरेड़ी का यह दृष्य देख जानवर भी लजा जाए | सोमवार को विभाग की उस समय पोल खुल गई जब प्रखंड प्रमुख रूपा देवी स्कूल पहुंची |उन्होंने छात्र-छात्राओं को जमीन पर बैठकर कागज पर मध्याह्न भोजन करते हुए देखा | रसोइया थाली के बदले कागज के पन्नों पर चावल परोसा रहा था | इतना ही नहीं, भोजन परोसने वाला रसोइया कपड़े भी गंदे पहने हुए था | यह देख प्रखंड प्रमुख रूपा देवी ने प्रिंसिपल से कारण पूछते हुए नाराजगी जताई |
भोजन कर रहच् बच्चों ने बताया कि स्कूल द्वारा हम लोगों को थाली नहीं दी जाती है | जच् बच्चे घर से थाली लाते हैं वे अपने थाली में भोजन करते हैं और जो नहीं लाते हैं उन्हें कागज के पन्ने पर ही भोजन परोसा जाता है | हम लोग हमेशा इसी कागज के पन्नों पर भोजन करते हैं |
सोमवार को स्कूल में 86 बच्चों की उपस्थिति बनाई गई थी जबकि मात्र 54 बच्चे ही भोजन कर रहे थे. वहीं प्रमुख द्वारा पूछे जाने पर ग्रामीण अक्षय लाल राम ने बताया कि स्कूल में मध्याह्न भोजन में हमेशा गड़बड़ी होती रहती है. भोजन रोज नहीं बनाकर कभी-कभी बनाया जाता है. जब कभी भोजन बनाता भी है तो काफी अनियमितता से. अक्षय लाल ने बताया कि अनियमितता के खिलाफ आवाज उठाने पर फर्जी केस में फंसाने की धमकी दी जाती है.

Post A Comment:

0 comments: