विष्णु दयाल (ब्यूरो चीफ) ,फरीदाबाद (हरियाणा)


फरीदाबाद 26/07/2018 :जी हाँ आपने बिलकुल सही सुना है परन्तु यह टक्कर किसी विकास के कार्यो को लेकर नहीं बल्कि बारिस के कारण हो रहे जलभराव से पैदा हुई मुशिबतो को लेकर है | जिस तरह महानगर मुम्बई की  थोड़ी से बारिस में रफ़्तार पूरी तरह से ठप्प हो जाती है , ठीक उसी प्रकार यह हाल फरीदाबाद का है | यहाँ की परवतिया कालोनी, जवाहर कालोनी, संजय कालोनी, डाबुवा कालोनी, जीवन नगर ,एस जी ऍम नगर ,नगला कालोनी की हालत किस नर्क से कम नहीं है | और फरीदाबाद के नेता पार्षद, विधायक , नगरनिगम सभी लोग कुंभकर्ण की नींद सो रहे है और पूरा शहर  जलमग्न दिख रहा है |सडको पर चरों तरफ पानी ही पानी भर गया है | बच्चे स्कूल नही जा पा रहे है , लोग अपने काम पर जाने के लिए भरी मशक्कत का सामना कर रहे हैं | शहर के लोग अपने ही घरो में कैद हो कर रह गए हैं |  सुबह की तेज बारिश जो अब भी जारी है लेकिन रफ़्तार थोड़ी कम हो गई है। अब शहर से जलभराव की तस्वीरें आने लगीं हैं। लोग नगर निगम और नेताओं की पोल खोलने लगे हैं और सवाल खड़ा कर रहे हैं कि कहाँ है नगर निगम और कहाँ हैं बड़े बड़े दावे करने वाले नेता।
अब नगरनिगम के आला अधिकारियों की पोल खुलती नजर आ रही है | यह नगरनिगम हर साल करोडो की राशी का खर्चा इस फरीदाबाद के विकास के लिए खर्च करती है परन्तु यह पैसा कहा लग रहा है यह कहना अब मुस्किल है |

Post A Comment:

0 comments: