विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने के लिए सोमवार सुबह विवेक तिवारी पत्नी कल्पना तिवारी सीएम आवास पहुंचीं। सीएम ने रविवार को उनसे फोन पर बात कर ये कहा था कि वे जब चाहें उनसे मिल सकती हैं।
मालूम हो कि कल्पना तिवारी ने योगी आदित्यनाथ से मिलने की इच्छा जाहिर की थी। साथ ही बेटियों की सुरक्षा को लेकर भी चिंता व्यक्त की थी। उन्होंने कहा था कि वह खुद योगी से मिलेंगी और अपनी बात कहेंगी। जिसके बाद सीएम ने उन्हें फोन कर हरसंभव मदद का आश्वासन दिया था और मुलकात की बात कही थी।
इससे पहले रविवार को कानून मंत्री ब्रजेश पाठक ने परिवारीजनों से मुलाकात कर उन्हें ढांढस बंधाते हुए कहा था कि  मुकदमे की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराने के लिए अदालत में पैरवी करेंगे। कानून मंत्री ने परिवारीजनों से कहा कि यह ऐसी दुखद घटना है कि इसकी कभी भरपाई नहीं हो सकती है। यह हमारे लिए भी शर्मनाक है।
पाठक ने कहा कि पुलिस कर्मियों को अपने व्यवहार में परिवर्तन ला कर सौम्य और सरल स्वभाव से काम करना होगा, क्योंकि हम जंगल राज में नहीं जी रहे हैं।  इस संबंध में मैंने प्रमुख सचिव से भी बात की है कि बड़े शहरों में ऐसे पुलिस कर्मियों को तैनात किया जाए, जिन्हें मानवीय संवेदनाओं का ख्याल हो। परिवार की हर संभव मदद करूंगा।

Post A Comment:

0 comments: