विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद (हरियाणा)

फरीदाबाद 17/10/2018 : एनआईटी फरीदाबाद के दशहरे से पहले की बवाल शुरू हो गया है और लंका दहन से पहले महाभारत की खबर है | जहां एक नंबर से शोभा यात्रा निकाली जानी थी लेकिन इस दौरान कुछ शरारती तत्वों में पुलिस पर पत्थर फेंके और फिर पुलिस को मजबूरन बल प्रयोग करना पड़ा। इस दशहरे को लेकर पिछले तीन सालों से महाभारत होते देखा गया है। फरीदाबाद के इतिहास में पहली बार दशहरे पर इन तीन वर्षों से महाभारत देखा जा रहा है। दशहरा मनाना दो गुटों ने अपनी नाक का सवाल बना लिया है और इन्ही दो गुटों के कारण ये विवाद लगभग तीन वर्षों से हो रहा है। आज की शोभा यात्रा को प्रशासन की अनुमति के बिना निकाला जा रहा था जिसके बाद पुलिस और शोभा यात्रा आयोजकों में बहस शुरू हो गई जिसके बीच कुछ लोग उग्र होकर पत्थरबाजी करने लगे और फिर पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया।

इस साल दोनों पक्षों में समझौता करवाने के कई प्रयास किये गए लेकिन कोई झुकने को तैयार नहीं था जिसका नतीजा आज का बवाल है।एनआईटी के दशहरा मैदान में दशहरे के दिन भारी भीड़ होती है इसलिए पुलिस को दशहरे के दिन किसी अनहोनी से निपटने के लिए जमकर पसीना बहाना पड़ेगा। दोनों पक्षों की लड़ाई का कोई तीसरा फायदा न उठा ले और किसे नए बवाल को न जन्म दे दे इस बात की भी आशंका बनी रहेगी। अगले चुनाव के पहले का ये अंतिम दशहरा है इसलिए कोई किसी के सामने झुकने के लिए तैयार नहीं है। विपक्ष इस बवाल का फायदा उठा सकता है क्यू कि भाजपा के बारे में कहा जाता है कि ये पक्के रामभक्तों की पार्टी है लेकिन फरीदाबाद में जो कुछ देखा जा रहा है उससे कई सवाल उठ रहे हैं।

Post A Comment:

0 comments: