विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद



फरीदाबाद 20 नवंबर : क्राइम ब्रांच सेक्टर 17 फरीदाबाद को एक बड़ी कामयाबी मिली और क्राइम ब्रांच ने एक बड़े बदमाश और बड़े नटवरलाल को दबोच कई बड़े खुलासे किये। फरीदाबाद में हुए ब्लाईड़ मर्डर वा विभिन्न राज्यों में हुई सात हत्याओं वा सैकड़ो चोरी/लुट की वारदातों को सुलझाते हुए क्राईम ब्रान्च सै0 17 इंस्पेक्टर विमल कुमार की टीम ने कुल तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया।
पुलिस कमिश्नर संजय कुमार वा पुलिस उपायुक्त अपराध लोकेन्द्र सिंह के दिशा निर्देश पर कार्यवाही करते हुए क्राईम ब्रान्च सै0 17 फरीदाबाद प्रभारी विमल कुमार वा उनकी टीम के अशोक कुमार व् सन्दीप कुमार व् सोमवीर ने अति सराहनीय कार्य करते हुए ब्लाईड़ मर्डर वा अन्य वारदातों को अन्जाम देने वाले आरोपियों को गिरफतार किया है।
आरोपियों का विवरणः-
1 जगतार सिंह उर्फ सरदार पु़़त्र मालसिंह जाति गड़रिया निवासी गॉव
इस्माईलपुर थाना इस्माईलाबाद जिला कुरूक्षेत्र हरियाणा।
2 पेमनाथ उर्फ पिन्टू पुत्र राम भरत जाति उपाध्याय निवासी गॉव फुलपुर थाना
कलवाड़ी जिला बस्ती उतर प्रदेश।
3 गणेश गिरी पुत्र मोहन गिरी जाति पण्डि़त निवासी गॉव सीमर सरूप थाना
मरावरा जिला ़छपरा बिहार।
सुलझाई गई वारदात एवम् घटनाओं का विवरण
1 मुकदमा नंबरः- 284 दिनांक 29.04.2018 धारा 302,201,34.प्च्ब् थाना मुजेसर
जिला फरीदाबाद
दिनांक 29.04.2018 को सै0 24 इन्ड़सटृीयल एरिया में लगभग 25 बर्षीय युवक की आरोपी जगतार उपरोक्त वा जहांगीर निवासी दिल्ली ने मिलकर लोहे की राड़ से मार-मार कर हत्या कर दी थी जो मृतक की शिनाख्त ना होने के चलते मुजेसर पुलिस ने इस मामले में अद्मपता रिर्पोट दाखिल का दी थी। यह ब्लाईंड़ मर्डर पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ था। आरोपी जगतार उपरोक्त वा उसके साथी जहांगीर ने यह हत्या आपसी कहासुनी में पैदा हुई रजिंश के चलते की थी। जो मृतक अरविन्द भी जगतार के साथ बेलदारी का काम करता था। और लेवर चौक मुजेसर पर ही बैठता था। जो अपने को बिहार का रहने वाला बतलाता था।
2 मुकदमा नंबरः- 199 दिनांक 08.11.2018 धारा 302.. थाना कौशम्भा जिला
सुरत गुजरात
दिनांक 08.11.2018 को उपरोक्त आरोपी जगतार, प्रेमनाथ, गणेश गिरी, वा उसके साथी मिथलेश मिश्रा और राजेश शर्मा के साथ मिलकर सुरत में कपड़ा फैक्टरी के गार्ड की पत्थर से बर्बतापूर्वक हत्या करके फैक्टरी से माल लूटकर भाग गए थे।
3 मुकदमा नंबरः- 155 दिनांक 08.11.2015 धारा 302..प्च्ब् थाना ईस्माईलाबाद
जिला कुरूक्षेत्र हरियाणा
दिनांक 08.11.2015 को आरोपी जगतार ने घर में घुस कर एक औरत का गला चाकू से रेत कर उसकी हत्या कर दी थी वा पहने हुए जेवरात वा घर से नगदी वगैरा लुट कर फरार हो गया जो मृतक महिला मूर्ति देवी आरोपी जगतार उपरोक्त की जानकार थी।
4 मुकदमा नंबरः- 199 दिनांक 21.08.2008 धारा 302,34.प्च्ब् थाना शहर संगरूर
पंजाब
दिनांक 21.08.2008 को आरोपी जगतार उपरोक्त ने बर्फ तोड़ने वाले सुए से कबाड़ा गोदाम मालिक पर ताबड़तोड़ वार करके मौत के घाट उतार दिया वा घर में रखे कैश तथा गहने लेकर फरार हो गया।
5 मुकदमा नंबरः- 56 दिनांक 14.06.2005 धारा 460.प्च्ब् थाना श्रभ्।छै। जिला
कुरूक्षेत्र ,हरियाणा
दिनांक 14.06.2005 को आरोपी जगतार उपरोक्त ने अपने जानकर युवक पवन की सुचना पर लुट की नियत से घर में घुस कर मकान मालिक/ कारोबारी की उस्तरे से गला रेत कर हत्या कर दी तथा नगदी वा जेवरात चोरी करके फरार हो गया।
नोटः-आरोपी पवन मृतक कारोबारी के निजी नाई का लड़का था जिसने ही जगतार को घर पर काफी कैश वा जेवरात बारे सूचना दी थी।
6. मुकदमाः- बर्ष 2016 में पलवल रेलवे स्टेशन पर आरोपी
जगतार ने एक 30 बर्षीय युवक की गर्दन में चाकू मार कर हत्या कर दी वा करीब 10,000/-रूपये छीन कर फरार हो गया।
7. बर्ष 2016 मेें ही नरेला रेलवे स्टेशन दिल्ली में आरोपी जगतार उपरोक्त ने अपने साथी जहांगीर के साथ मिलकर एक व्यक्ति की हत्या कर दी तथा 50,000/- रूपये छीन लिए। आरोपीगणो ने मृतक को कैश गिनते हुए देख लिया था।
8. मुकदमा नंबर 780 दिनांक 19.11.2018 धारा 398,401 प्च्ब् 25.54.59 ।. थाना मुजेसर फरीदाबाद
देश भर की लगभग 10 जेलों में रह चुका है आरोपी जगतार
आरोपी जगतार ARMS ACT, NDPS ACTवा घर की चोरियों में विभिन्न जगहों पर पकड़े जाने के बाद भी अपने द्वारा किए गए मर्डर के मामलो के बारे किसी भी पुलिस अधिकारी को नहीं बतलाया।
इन जेलों में रह चुका है आरोपीः-
1.सैन्ट्ल जेल लुधियाना 2. सैन्ट्ल जेल पटियाला
3.सिक्योरिटी जेल संगरूर 4.अम्बाला जेल
5.कुरूक्षेत्र जेल 6.जींद जेल 7.सोनीपत जेल
8.ड़ासना जेल गाजियाबाद 9. हरदोई जेल वा 10. आगरा जेल
देश के लगभग 50 शहरो में दे चुका है वारदातों को अन्जाम
जिनमें मुम्बई, गोवा, सिलीगुड़ी, औरंगाबाद, नरवाना, मोहाली, चण्दीगढ़, रोहतक, दिल्ली, लुधियाना, सुरत, संगरूर, कुरूक्षेत्र, अम्बाला,नोएड़ा, और फरीदाबाद प्रमुख है।

Post A Comment:

0 comments: