बुलंदशहर हिंसा में शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को आज बुलंदशहर के पुलिस लाइन में श्रद्धांजलि दी गई। उन्हें एडीजी से लेकर कई अफसरों ने पुष्पांजलि अर्पित की और फिर उनके पार्थिव शरीर को कंधा भी दिया। देखें तस्वीरें....
पुलिस लाइन में शहीद इंस्पेक्टर को सलामी भी दी गई। इसके बाद एडीजी से लेकर सभी अफसरों ने शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को कंधा दिया और पुलिस की ही गाड़ी में सवार कर उनके पार्थिव शरीर को पैतृक गांव एटा के लिए रवाना कर दिया गया।इंस्पेक्टर की मौत की वीडियो वायरल
बुलंदशहर के स्याना इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की मौत की वीडियो वायरल हुई तो पुलिस अधिकारियों में हड़कंप मच गया। अफसर पल- पल की जानकारी लेते रहे। सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत कर सड़क पर उतर आए। इंस्पेक्टर सुबोध मेरठ और मुजफ्फरनगर के थानों में भी तैनात रहे हैं। एटा के जैतरा थाना क्षेत्र के तरगवा गांव निवासी इंस्पेक्टर सुबोध कुमार बुलंदशहर के स्याना थाने में प्रभारी निरीक्षक थे। सोमवार को गढ़-बुलंदशहर स्टेट हाईवे पर चिंगरावठी चौकी पर गोकशी को लेकर भीड़ ने बवाल कर दिया। पुलिस चौकी पर पथराव और आगजनी की सूचना पर इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सरकारी सूमो गाड़ी से पुलिस चौकी से चले थे।पुलिस चौकी पर भीड़ बवाल कर रही थी। जिसके बाद भीड़ ने इंस्पेक्टर की गाड़ी को घेर लिया। पुलिस ने बलवाईयों से बचाव के लिए गाड़ी को हाईवे से खेत में उतार दिया। लेकिन भीड़ पीछा करते हुए फायरिंग करती रही। जो वीडियो वायरल हुई है उसमें भीड़ फायरिंग करती हुई नजर आ रही है। वहीं, इंस्पेक्टर सुबोध कुमार का सिर सरकारी गाड़ी से नीचे की तरफ झुका हुआ नजर आ रहा है। वीडियो में एक युवक मोबाइल से वीडियो बना रहा है। वीडियो में करीब 15- 20 राउंड फायरिंग होना दिखाई दे रहा है। जिसमें दूर तक भी इंस्पेक्टर के हमराह और अन्य पुलिसकर्मी नजर नहीं आ रहे हैं। बीच खेत में पुलिस की सूमो फंसी खड़ी हुई थी, तभी एक युवक कहता है कि यह तो एसओ हैं और शायद गोली लग गई। जिसके बाद भीड़ गायब हो गई। बाद में पुलिस फोर्स इंस्पेक्टर को लेकर अस्पताल पहुंची, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
सीओ को जिंदा जलाने की कोशिश
सीओ स्याना सत्यप्रकाश शर्मा साल 2016-2017 में पुलिस लाइन मेरठ के प्रतिसार निरीक्षक रहे हैं। प्रमोशन पाकर सीओ बने तो बुलंदशहर के स्याना सर्किल में तैनात हैं। सोमवार को बवाल के बाद भीड़ ने सीओ से भी हाथापाई की। चौकी में तोड़फोड़ की। चिंगरावठी पुलिस चौकी में सीओ को बंद करके आगजनी कर दी गई। सिपाहियों और सीओ ने किसी तरह विंडो के रास्ते कूदकर जान बचाई।
आरएएफ और पीएसी भेजी गई
बवाल के बाद मेरठ से भारी संख्या में फोर्स, पीएसी और आरएएफ को बुलंदशहर भेजा गया। गढ़-बुलंदशहर हाईवे को भी पुलिस ने बवाल के बाद खाली करा दिया था। जिसके बाद वाहनों को स्याना और औरंगाबाद से डायवर्ट कर दिया था।
अफवाहों को लेकर चलती रहीं चर्चाएं
बुलंदशहर में इंस्पेक्टर और 19 वर्षीय युवक सुमित की मौत के बाद अफवाह फैल गई कि गोकशी के बाद सांप्रदायिक तनाव हो गया। ऐसे समय में बुलंदशहर में तब्लीगी इज्तिमा में लाखों लोगों की भीड़ थी और सोमवार को तीसरा और आखिरी दिन था। सोशल मीडिया पर वीडियो और फोटो वायरल होने से अधिकारियों के होश उड़े रहे। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कई वीडियो पुरानी भी वायरल की गई हैं। शरारती तत्वों पर पुलिस नजर रखे हुए है।

Post A Comment:

0 comments: