विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद 28/11/2018 :बुलंदशहर में 3 दिसंबर को कथित गौकशी के बाद हुई हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या कर दी गई थी। वहीं, भीड़ में शामिल एक युवक की भी मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने सबसे पहले जीतू फौजी को गिरफ्तार किया था, जो घटना के दिन पुलिस चौकी के सामने मौजूद था। यूपी एसटीएफ के एसएसपी का कहना है कि आरोपी जवान जीतू ने बुलंदशहर हिंसा के दौरान उपद्रवियों की भीड़ में शामिल होने की बात कबूल की थी।

 इस हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या करने वाले को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसकी पहचान बुलंदशहर निवासी प्रशांत नट के रूप में हुई। एसएसपी बुलंदशहर प्रभाकर चौधरी ने नट की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। बताया जा रहा है कि पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया है। उसे आज (शुक्रवार को) कोर्ट में पेश किया जाएगा। इसके अलावा रिवॉल्वर चुराने वाले जॉनी की भी पहचान हो गई है उसकी तलाश की जा रही है। पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, जॉनी ने इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की रिवॉल्वर चोरी की थी, जबकि प्रशांत नट ने उन्हें गोली मारी थी। इस मामले में पुलिस को दो वीडियो मिले थे, जिनमें ये दोनों एक साथ नजर आए। ऐसे में जॉनी और प्रशांत नट को इंस्पेक्टर की हत्या का मुख्य आरोपी बनाया गया है। इसके अलावा योगेश राज को हिंसा भड़काने का मुख्य आरोपी बनाया गया है।

एसएसपी प्रभाकर चौधरी के मुताबिक, इंस्पेक्टर ने आत्मरक्षा में गोली चलाई थी, जिसमें सुमित नाम के युवक की मौत हुई थी। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, वीडियो फुटेज और कुछ लोगों की गवाही के आधार पर इंस्पेक्टर की हत्या में नट को संदिग्ध पाया गया। बता दें कि इस मामले में बुलंदशहर पुलिस अब तक 22 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं, छह से ज्यादा लोगों ने अदालत में आत्मसमर्पण किया है।

Post A Comment:

0 comments: