विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ़ फरीदाबाद

फरीदाबाद 18/01/2019 : राजधानी दिल्ली में गुरुवार को जम्मू-दिल्ली दुरंतो एक्सप्रेस के दो एसी कोचों में सफर कर रहे यात्रियों से लूटपाट का मामला सामने आया है। करीब 15 तक चली इस लूट के दौरान बेखौफ लुटेरे दर्जनों यात्रियों से नकदी, गहने, एटीएम कार्ड और यहां तक ​​कि उनके चश्मे तक लूट लिए गए।

जम्मू से दिल्ली जाने वाली ट्रेन में यात्रा कर रहे अश्विनी कुमार नामक एक यात्री द्वारा इस बारे में सबसे पहले रेलवे के शिकायत पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराने के बाद यह मामला सामने आया।

अश्विनी कुमार ने अपनी शिकायत में कहा, “ हाथों में तेज धार वाले चाकू लेकर करीब 7 से 10 अज्ञात बदमाश ट्रेन के कोच बी 3 और बी 7 में घुस आए। उन्होंने यात्रियों के गले के पास चाकू रख दिया और कहा कि वो अपने साथ जो भी महंगी वस्तुएं ले जा रहे हैं उन्हें सौंप दें। यह लूटपाट करीब 10-15 मिनट तक चली।''

कुमार ने कहा कि लुटेरों ने कई यात्रियों से पर्स, नकदी, कैरी बैग, सोने की चेन, मोबाइल और कई अन्य सामान छीन लिए। उन्होंने कहा कि विडंबना यह रही कि न तो कर्मचारी और ना ही कोई सुरक्षाकर्मी वहां मौजूद था। हमने ट्रेन अटेंडेंट और टीटी तक पहुंचने की कोशिश की। लेकिन अटेंडेंट अपने निर्धारित स्थान पर नहीं था और कहीं और सो रहा था।
रेलवे के एक अधिकारी के मुताबिक, सराय रोहिला स्टेशन पर पहुंचने से पहले ट्रेन कुछ सिग्नल की समस्या के कारण रुकी थी। रेलवे सुरक्षा बल (RPF) ने एक बयान में कहा है कि सिग्नल के साथ छेड़छाड़ की गई थी।

आरपीएफ ने कहा कि उनके कर्मचारी ट्रेन के ही दूसरे कोचों में मौजूद थे। बयान में कहा गया है कि हम यात्रियों से जानकारी इकट्ठा कर रहे हैं, संदिग्धों के स्केच बना रहे हैं और इसमें शामिल गिरोह की पहचान करने की कोशिश कर रहे हैं।

आरपीएफ को दिए गए बयानों के अनुसार, यात्रियों ने सोने के गहने, नकदी, मोबाइल और यहां तक ​​कि धूप के चश्मे की लूट की सूचना दी है।
उत्तर रेलवे के जनसंपर्क कार्यालय ने कहा कि आरपीएफ के पास मामले में शुरुआती सुराग हैं और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Post A Comment:

0 comments: