विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद, 29 मार्च:  मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज में इंडियन इंटरनेशनल चैप्टर ऑफ हाइड्रो जियोलॉजिस्ट (INC-IAH), सेंटर फॉर एडवांस्ड वाटर टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट (CAWTM) सेंट्रल ग्राउंड वॉटर बोर्ड और ग्लोबल हाईड्रोलोजिकल सॉल्यूशंस की ओर से संयुक्त रूप से राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस दौरान भूजल क्षेत्र से संबंधित मुद्दों और भूजल स्थिरता को प्राप्त करने के संभावित समाधानों पर ध्यान केंद्रित किया गया। इस कार्यक्रम में देश के विभिन्न हिस्सों से योजनाकारों, शिक्षाविदों, भूजल पेशेवरों और विशेषज्ञों, RWA, हितधारकों और छात्रों के रूप में समाज के विभिन्न समूहों के 150 से अधिक प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

इस कार्यक्रम में पूर्व जल संसाधन और कृषि राज्य मंत्री सोमपाल शास्त्री ने बतौर मुख्य अतिथि, पद्म श्री एमसी मेहता, सीजीडब्यूबी के अध्यक्ष केसी नायक,  मानव रचना शैक्षणिक संस्थान की संरक्षक सत्या भल्ला, INC-IAH के अध्यक्षक डॉ. डीके  चड्ढा, मानव रचना के ट्रस्टी डॉ. एमएम कथूरिया, ट्रस्टी, मानव रचना के डीजी डॉ. एनसी वाधवा और एमआरआईआईआरएस के वीसी डॉ. संजय श्रीवास्तव और डॉ. संजय बाजपेयी ने बतौर सम्मानित अतिथि हिस्सा लिया। उन्होंने भूजल के महत्व पर प्रकाश डाला और स्थायी समाधान सुझाया।

इन्हें किया गया सावित्री चड्ढा मेमोरियल INC-IAH पुरस्कार से सम्मानित

1.     डॉ. आरसी जैन, जीडब्ल्यूआरडीसी, गांधीनगर को ग्राउंड वाटर इन्वेस्टिगेशन एंड मैनेजमेंट 2018 में उत्कृष्टता का पुरस्कार

2.     बेंग्लुरू के प्रो. शेखर मुड्डू, आईआईएससी को ग्राउंड वाटर साइंस 2018 में उत्कृष्टता का पुरस्कार

3.     डॉ. सारा, कश्मीर विश्वविद्यालय को ग्राउंड वाटर स्टडीज 2018 में युवा वैज्ञानिक पुरस्कार

कार्यक्रम के दौरान तीन तकनीकी सत्र भी रखे गए, जिसमें 20 से ज्यादा पत्र प्रस्तुत किए गए।

Post A Comment:

0 comments: