विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद 07/03/2019 :  देश के अंदर राजनेताओ का चरित्र किस प्रकार आसमान की ऊँचाइयाँ छू रहा है यह पुरे देश ने कल बीजेपी के दो नेताओं को जूता हाथ  में लेकर लड़ते हुए देखा है | आगे चल कर शिक्षा पाठयक्रम इस प्रकार के नेताओं के बारे में बच्चों को अगर पढ़ाया जाए तो बच्चों पर इसका क्या असर पड़ेगा |  अब राजस्थान सरकार  ने एक महत्वपूर्ण  फ़ैसला लेते हुए ये घोसणा की है की आगामी  शेक्षणिक सत्र में विंग कमांडर अभिनन्दन की शौर्यगाथा को स्कूली पाठयक्रम में शामिल किया जा रहा है।

पाकिस्तान की जमीन में घुसकर उसके ही सबसे शक्तिशाली F-16 लड़ाकू विमान की गिराकर वापस आने वाले विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की बहादुरी के किस्से इन दिनों हर किसी की जुबान पर हैं, जहां आम लोग उनके शौर्य की तारीफ करते नहीं थक रहे, वही राजनीति दल के नेता भी इस हर मंच से मुद्दे पर अलग-अलग तरह से बयान नज़र आ रहे हैं, लेकिन राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने अभिनंदन को लेकर एक अहम फैसला किया है, जिसके तहत अब स्कूली पाठयक्रम में विंग कमांडर की शौर्यगाथा को पढ़ाया जाएगा। खुद मुख्यमंत्रीअशोक गहलोत का मानना है कि यदि जाबांज वीरों और शहिदों की शौर्यगाथा पढ़कर युवा पीढ़ी प्रेरणा लेती है तो इससे किसी को एतराज नहीं होना चाहिए।

राजस्थान के स्कूली शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने बाकायदा इसे लेकर ट्विटर पर ऐलान भी कर दिया। शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने लिखा है की  डोटासरा ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा, 'जोधपुर से पढ़े, हाल ही में पाकिस्तान की सरजमीं से अपने साहस एवं वीरता का परिचय देते हुए वापस लौटने वाले विंग कमांडर अभिनंदन के शौर्य के सम्मानस्वरूप सरकार ने अभिनंदन की शौर्य की कहानी को राजस्थान के स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करने का फैसला लिया है।'

मंत्री जी की माने तो हमारी सेनाओं ने अपने प्राणों की आहूति देते हुए हमें सुरक्षित रखा है, इसलिए आने वाली पीढ़ी को हमारी सेनाओं की बहादुरी प्रेरित करे। इसके लिए पाठ्यपुस्तकों में विंग कमांडर अभिनंदन को शामिल करने के लिए दिशानिर्देश दे दिए गए हैं और अब वहीं तय करगी की किस कक्षा के पाठयक्रम में किस रूप में इस शौर्यगाथा को शामिल किया जाना है।

वैसे 24 घंटे पहले ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मोदी सरकार पर एयर स्ट्राइक की आड़ में राजनीतिकरण करने का आरोप लगते हुए मारे गए आतंकियों की संख्या बताने की मांग कर सबको चौंका दिया था, लेकिन इससे होने वाले डेमेज कंट्रोल को भांपते हुए अब सरकार ने इसी एयर स्ट्राइक के सुपरहीरो अभिनंदन की शौर्यगाथा को स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल करने का ऐलान कर दिया है। जाहिर है, चुनाव सिर पर है और सरकार भी इस मुद्दे पर अकेले बीजेपी को किसी भी तरह से फायदा उठाने देने के मूड में नजर नहीं आ रही है। बहरहाल इतना तो कहा जा सकता है कि एयर स्ट्राइक भले ही राजनितिक दलों के लिए चुनावी मुद्दा हो सकता है, लेकिन राजस्थान के स्कूली बच्चों को अपने इस बहादुर की शौर्यगाथा पढ़ने और समझने का बेहतर मौका मिलेगा।

Post A Comment:

0 comments: