विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद 08/03/2019 : देश की मौजूदा सरकार भले ही फरीदाबाद को स्मार्टसिटी और भ्र्ष्टाचार मुक्त बनानें के लाख दावे कर  रही हो पर प्रशासन में उच्च पदों पर आसीन भ्र्ष्ट अधकारियों के कारण एक आम इंसान आज भी अपने आपको ठगा ही महसूस करता है | कल एनआईटी  एक नम्बर में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान केन्द्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर का स्थानीय निवासी एक बुजुर्ग द्वारा जोरदार विरोध करने का विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। विडियों में बड़खल विधायक सीमा त्रिखा, मेयर सुमनबाला भी बुजुर्ग को शांत कराने का प्रयत्न कर रही है लेकिन बुजुर्ग अपनी परेशानी रख रहा है और बचाव में विधायक सीमा त्रिखा और मेयर मामले को  शांत कराने का प्रयास करती रहीं। असल में गत दिवस केन्द्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर, विधायक सीमा त्रिखा और मेयर सुमनबाला फरीदाबाद के एक नम्बर स्थित एफ ब्लॉक में पार्क के सौंदर्यकरण का शुभारंभ करने पहुंचे जहां पर एक जनसभा भी रखी हुई थी। जैसे ही केन्द्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर वहां पहुंचे और स्वागत कार्यक्रम शुरू हुआ, एक सीनीयर सीटीजन ने उनका विरोध करना शुरू कर दिया और काफी देर तक मंत्री से शिकायत करते रहे की वे उनके घर के चक्कर लगा लगा कर थक चुके है लेकिन उनका काम नहीं हो रहा है। इसी बीच किसी ने इस सारे वाक्य को कैमरे में कैद कर लिया और सोशल मीडिया पर उपलोड कर दिया, जिसे लाखों लोग देख चुके हैं।
बुजुर्ग और मंत्री जी की इस बहस की पूरे फरीदाबाद में चर्चा है. वीडियो खूब वायरल हो रही है। वीडियो में  विधायक और मेयर केंद्रीय राज्यमंत्री का बचाव करती नजर आ रही हैं। विरोध करने वाला व्यक्ति एक नम्बर का ही रहने वाला बुजुर्ग विपिन भाटिया है जो कि पिछले चार साल से अपनी दुकान में मीटर लगवाने के लिए धक्के खा रहा है। विपिन भाटिया का आरोप है कि उनको निगम से दुकान मिली हुई है जिसमें अभी तक बिजली का मीटर नहीं लगा है जिसको लेकर वे पिछले चार साल से नगर निगम और बिजली निगम के चक्कर लगा रहे हैं इसी दौरान वह केंद्रीय राज्यमंत्री से भी उनके घर मिलने के लिए कई बार गए लेकिन उनको कोई सहायता नहीं मिली। इसी बात से क्षुब्ध बुजुर्ग  विपिन भाटिया ने इन सभी का विरोध किया और अपनी बात केंद्रीय राज्यमंत्री के सामने रखी,लेकिन उन्होंने उनको दो घंटे में मीटर लगवाने का आश्वासन दिया था जो कि अभी तक भी उनका मीटर नहीं लगा है। पीड़ित बुजुर्ग का कहना है कि नीचे के अधिकारी सुनने को तैयार नहीं है मुख्यमंत्री ने भी मीटर लगावाने के आदेश दिए हुए है लेकिन कोई भी उनकी सुनने को तैयार नहीं है। उनके पास कमाई का साधन उनकी दुकान है लेकिन वहीं बिना बिजली के बंद पडी हुई है। परेशान बुजुर्ग पार्षद,मेयर, विधायक सीमा त्रिखा और केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्ण पाल गुर्जर से लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल तक अपनी परेशानी बता चुका है लेकिन कोई सुनने को तैयार नहीं है। पीड़ित बुजुर्ग ने कहा कि वे आगामी चुनाव में नोटा पर बटन दबाकर अपना विरोध दर्ज कराएंगे।

Post A Comment:

0 comments: