विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद 03 अप्रैल : हरियाणा के मेवात में तालीमी हालात पहले से ही ख़ास अच्छे नहीं रहे हैं, लेकिन अब फिज़ा बदलने लगी है। इलाक़े में पढ़ाई के लिए युवा व अभिभावक अब तवज्जो दे रहे हैं।

हरियाणा वक्फ़ बोर्ड ने भी हाल ही में यहां की तालीम को आगे बढ़ाने का प्रयास किया है जिसमें सफलता भी मिली है। बोर्ड के मुख्या कार्यकारी अधिकारी सीनियर आईपीएस अधिकारी डॉ हनीफ कुरैशी ने भी सराहनीय कार्य किया है। कई साल पहले यहां इंजीनियरिंग कॉलेज की नींव में उन्होंने मजबूती से काम किया अब मेवात में एक कोचिंग संस्थान, लाइब्रेरी व कैरियर प्रमार्श व मार्गदर्शन केंद्र की शुरुआत में भी अपनी सार्थक भूमिका निभाई है।

मेवात में अब बच्चे इस डा एपीजे अब्दुल कलाम लाइब्रेरी में पढ़ने आते हैं जो एक नई सकारात्मक शुरुवात नजर आती है। ज्यादा हैरानी की बात ये भी है कि लगभग तीन दर्जन से अधिक मेवात की बेटियां भी लाइब्रेरी आती हैं। डॉ हनीफ कुरैशी आईपीएस खुद अभी भी तालीमी संस्थानों में अपनी भूमिका निभाते रहते हैं।

मेवात में इस लाइब्रेरी की जरूरत इस लिए भी ज्यादा थी क्योंकि यहां आर्थिक रूप से भी लोग ज्यादा मजबूत नहीं हैं और ऐसी बहुत सी पुस्तकें होती हैं जो बहुत और दुर्लभ होती हैं। हर व्यक्ति उसे नहीं खरीद सकता। पढ़ने वालों के लिए यह किसी वरदान से कम नहीं है।

इस लाइब्रेरी का बहुत बड़ा फायदा यहां के छात्रों को मिलेगा कि किसी भी विषय पर सैकड़ों किताबें उन्हें मिल जाती हैं जिससे स्टूडेंट्स अच्छे नोट्स बनाकर अच्छे नंबर पा सकते हैं। डॉ हनीफ कुरैशी ने हाल ही में मेवात के कुछ स्कूलों में छात्रों को रोबोटिक्स की कला सिखाने के लिए विशेष रूप से पहल की थी।



हरियाणा वक्फ बोर्ड के इस कोचिंग संस्थान के कोऑर्डिनेटर प्रोफ़ेसर वसीम अकरम ने हमारे संवाददाता को बताया की बोर्ड के चेयरमैन रहीस खान व मुख्यकार्यकारी अधिकारी डॉ हनीफ कुरैशी आईपीएस के संयुक्त प्रयासों से बोर्ड ने हाल ही में प्रदेश में 3 कोचिंग संस्थान शुरू किए हैं, पुनहाना संस्थान में लाइब्रेरी, मार्गदर्शन केंद्र भी शुरु किया गया है। संस्थान के नतीजे उत्साहजनक है, बोर्ड का फ़ैसला तालीमी ऐतबार से सही साबित हुआ है।

Post A Comment:

0 comments: