विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद21 मई : पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी के 28वीं पुण्यतिथि के अवसर पर कांग्रेसियों ने ओल्ड फरीदाबाद चौक स्थित राजीव गांधी जी की प्रतिमा को गंगाजल से साफ करके उस पर माल्यार्पण की और उन्हें शत-शत नमन किया। इस दौरान कांग्रेसियों ने ‘राजीव गांधी जिंदाबाद’ ‘जब तक सूरज-चांद रहेगा, राजीव गांधी तेरा नाम रहेगा’ ‘कांग्रेस पार्टी जिंदाबाद’ के गगनचुंबी नारे लगाकर पूरे माहौल को कांग्रेसमय कर दिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कांग्रेस के जिला प्रभारी मोहम्मद बिलाल द्वारा की गई। इस मौके पर पूर्व सांसद अवतार सिंह भड़ाना, पूर्वमंत्री ए.सी. चौधरी, पूर्व विधायक आनंद कौशिक, प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी, बलजीत कौशिक, लखन सिंगला, प्रदेश सचिव सत्यवीर डागर, कांग्रेस ओबीसी सैल के प्रदेश चेयरमैन ललित भड़ाना, कांग्रेस ग्रीवेंस सैल के चेयरमैन डा. एस.एल. शर्मा, डा. धर्मदेव आर्य, रेनू चौहान, पूर्व जिलाध्यक्ष गुलशन बगगा, अनीशपाल, अनिल शर्मा, विजय कौशिक, हरजीत सिंह सेवक, अहसान कुरैशी, मधु सिंह, सीमा जैन, सुनीता फागना, अशोक रावल, रामजीलाल, संजय सोलंकी, इकबाल कुरैशी, श्याम लाल शर्मा, धर्मबीर मुजेसर, आरिफ कुरैशी, संजय त्यागी, अशोक शर्मा सेवादल, कुलदीप गुलाटी, भारत बत्रा, साजिद कुरैशी, हरजीत सिंह भोगल, गुरप्रीत लहरी, सोहनपाल सिंह, आर.डी. वर्मा, गीता सैनी, अनिल कुमार सहित अनेकों कांग्र्रेसी नेता मौजूद थे। इस मौके पर कांग्रेसियों ने स्व. राजीव गांधी की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वे एक युगप्रवर्तक एवं दूरगामी सोच के व्यक्तित्व थे, जो देश के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय क्षितिज पर भी एक सशक्त और कुशल राजनेता के रुप में उभरे। उन्होंने कहा कि देश में आधुनिक युग की शुरुआत स्व. गांधी की ही देन है, जिन्होंने आधुनिक भारत का निर्माण करते हुए देश में कंप्यूटर का सूत्रपात किया, जिसके चलते आज भारत देश ने विश्वस्तर अपनी पहचान कायम की। इसके अलावा 18 वर्ष के युवाओं को वोट का अधिकार दिलवाने एवं पंचायती राज अधिनियम बनाने का श्रेय भी स्व. गांधी जी को ही जाता है। कांग्रेसी नेताओं ने कहा कि सबसे कम उम्र में विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री बनने का गौरव पाने वाले राजीव गांधी का व्यक्तित्व सज्जनता, मित्रता और प्रगतिशीलता का प्रतीक था। राजनैतिक क्षितिज में उनका उदय अप्रत्याशित तो अवश्य था, परन्तु इतने बड़े देश के प्रधानमंत्रित्व का भार अपने युवा कंधो पर लेते ही राजीव गांधी ने साहसिक कदम उठाकर और ज्वलंत समस्याओं के प्रति स्पष्ट दृष्टीकोण अपनाकर अपनी छवि एक विवेकशील और गतिशील राजनेता के रूप में प्रतिष्ठित की थी, उनकी स्पष्ट वादिता और आधुनिक विचारों के चलते उन्हें तत्कालीन समय में ‘मिस्टर क्लीन’ की संज्ञा दी गई थी। अपने अल्प राजनैतिक कार्यकाल में राजीव गांधी ने भारत को एक नया स्वरुप दिया था, जिसके चलते उन्हें देश की जनता सदैव सम्मानपूर्वक याद करती रहेगी। उन्होंने उपस्थित कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि आज के दिन हम सभी को स्व. राजीव गांधी के आदर्शाे को अपनाते हुए समाज व देशहित में कार्य करने का संकल्प लेना चाहिए, यही स्व. गांधी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

Post A Comment:

0 comments: