*Press Note:* 16.06.2019

*✍  टेन्ट डेकोरेटर केटरिंग का ठेका देने के नाम पर काम का एडवांस भुगतान फर्जी चैक के माध्यम से देकर तथा कमीशन लेकर ठगी करने वाले 02 आरोपियों को अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने किया काबू।*

*✍ आरोपियों ने टेन्ट डेकोरेटर केटरिंग के काम का भुगतान 39,39750/- का फर्जी चैक देकर व कमीशन के रूप में 1,75000/- की नगदी लेकर धोखाधड़ी करके की थी ठगी।*

*✍ आरोपी अपने आप को मारुति कम्पनी के बड़े अधिकारी होना बतलाते थे तथा धोखाधड़ी करते थे।*

▪दिनाँक 13.06.2019 को थाना मानेसर, गुरुग्राम में श्याम वीर सिंह यादव पुत्र रक्षपाल सिंह यादव निवासी 571/6 गोविन्द पुरी कालका जी नई दिल्ली ने एक लिखित शिकायत के माध्यम से बतलाया कि वह A to Z टेन्ट डेकोरेटर केटरिंग का काम करता है। केटरिंग के काम के सिलसिले मे इसकी मुलाकात तहसील मानेसर के एक व्यक्ति से हुई जिसने अपना नाम विजय कुमार आर्या पुत्र कुलनन्दन आर्या निवासी दिल्ली बताया। बातों ही बातों मे विजय कुमार आर्या ने केटरिंग का मोटा काम देने की पेशकश की और एक अन्य व्यक्ति को बुलाकर उससे मिलवाया जिसने अपना नाम कुलदीप सिंह बतलाया और अपने आप को मारूति कम्पनी का सिनियर अधिकारी बताया उसके बाद कुलदीप सिंह ने दिनाँक 28.02.2018 को काम के सिलसिले मे बातचीत करने के लिये रहेजा माल, मानेसर बुलाया जब वह वहाँ पहुंचा तो वहाँ पर रेस्टोरेन्ट मे कुलदीप सिंह एवं विजय कुमार आर्या बैठे हुये मिले जहाँ पर कुलदीप सिंह ने उसकी फर्म का कॉन्ट्रैक्ट लेटर लिया और उसे मारुति सुजूकी का Account Payee चेक रकम 39,39750/- रुपये का दिया और अपने कमीशन के रुपये मांगे जिस पर उसने कमीशन की रकम पूछी तो विजय कुमार आर्या ने फिलहाल दो लाख रुपये देने के लिये कहा जिस पर उसने अपने बैंक मे रखे हुये 1,75000/- दे दिए और विजय कुमार एवं कुलदीप सिंह रुपये लेकर गाडी में बैठकर वहाँ से चले गए। उसके उपरान्त विजय कुमार आर्या एवं कुलदीप सिंह ने कॉन्ट्रैक्ट लेटर लेने के लिये मानेसर दिनाँक 09.03.2018 को बुलाया जहाँ पर उसे कुलदीप सिंह एवं विजय कुमार आर्या उसी रेस्टोरेन्ट मे मिले जहाँ पर उसे कुलदीप सिंह ने मारुती सुजकी इन्डिया लिमिटेड का कॉन्ट्रैक्ट लेटर दिया तथा काम करने की जगह के बारे में बाद मे बताने को कहा और अपने अन्य कमीशन की बात की जो उसने बाकी कमीशन काम होने और पेमेन्ट होने पर देने के लिए कहा तो दोनो वहाँ से चले गए। उनके द्वारा दिए गए चैक को सिडीकेट बैंक कालका जी डिपो मे लगाया जो Clear नही हो सका। 03 दिन बाद सिडीकेट बैंक ने बताया कि आप के द्वारा लगाया गया चैक वापिस आ गया है। और इस नाम का कोई खाता ही नही है। इस सम्बन्ध मे विजय कुमार एवं कुलदीप सिंह से बातचीत करने की काफी कोशिस की तो इन दोनों व्यक्ति के फोन हर बार बन्द मिले जो काफी तलाश करने के बाद भी नही मिले तो उसने मारुति सुजुकी कम्पनी से भी पता  किया तो मालूम हुआ कि कम्पनी ने इस प्रकार का कोई पत्र जारी ही नही किया। उन दोनों व्यक्तियों ने मिली भगत करके फर्जी कॉन्ट्रैक्ट लेटर व फर्जी चेक देकर धोखा धडी से कमीशन के नाम पर पैसों की ठगी की है।

▪उक्त शिकायत पर थाना मानेसर में कानून की उचित धाराओं के तहत अभियोग अंकित किया गया।

▪उक्त अभियोग में क्राइम यूनिट सेक्टर-31 के प्रभारी इंस्पेक्टर नवीन कुमार की पुलिस टीम ने तत्परता से कार्यवाही करते हुए उक्त अभियोग में धोखाधड़ी करके ठगी करने वाले निम्नलिखित 02 आरोपियों को दिनाँक 14.06.2019 को धनचरी टूरिस्ट काम्प्लेक्स नजदीक सरहौल टोल गुरुग्राम से काबू करने में सफलता हासिल की है:-

*1. विजय कुमार झां पुत्र कुलानंद झां निवासी गांव कसरोर थाना कसरोर जिला दरभंगा बिहार।*

*2. कुलदीपक पुत्र अरुण सिंह निवासी मकान नंबर 4549/21 रामनगर गली नंबर-2 सुल्तान रोड PSBS विजन, जिला अमृतसर, पंजाब।*

▪ उक्त आरोपियों को उपरोक्त अभियोग में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया।

▪उक्त आरोपियों ने प्रारंभिक पुलिस पूछताछ में बतलाया कि ये अपने आपको Maruti Suzuki India Limited के बङे अधिकारी बताते है और इन्होंने कम्पनी के नाम का फर्जी विजिटिंग कार्ड बनाया हुआ है।
बड़े-बड़े फार्म हाउस मालिकों को इवेंट के नाम पर फर्जी चेक दे देते थे । ये कही कही पर अपने आपको फाइनेंशियल लोन देने वाले भी बताते हैं ओर कहते हैं चैक सीधा पार्टी को ही देंगे फिर ये उनसे अपना 10% कमीशन एडवांस में मांगते हैं ओर अपने झांसे में लेकर फर्जी चैक उनको थमा कर उनको ठग लेते हैं। इन्होंने NCR में इस प्रकार की लगभग 35 वारदातों को अन्जाम देने का खुलाशा किया है।

▪पुलिस टीम ने उक्त आरोपियों के कब्जा से निम्नलिखित 04 फर्जी चेक जिन पर अलग-अलग कंपनियों के नाम है बरामद किए गए:-

*1. निरंकारी इवेन्ट, गुरुग्राम के नाम से 84 लाख 81 हजार का फर्जी चैक बरामद किया।*

*2. चावला टैंट हाउस पानीपत के नाम से 5332500/- रुपयों का फर्जी चैक बरामद किया।*

*3.  सुभाष टैंट हाउस के नाम से 8292500 रुपयों का फर्जी चैक बरामद किया।*

*4. A to Z टैंट हाउस, दिल्ली के नाम से 3939750/- रुपयों का फर्जी चैक बरामद किया।*

▪उक्त आरोपियों द्वारा धोखाधड़ी करके ठगी करने की पूरी तैयारियां की हुई थी, जो पुलिस टीम के हत्थे चढ़ जाने के बाद वारदातों को अन्जाम देने का इनका ईरादा नाकाम हो गया।

▪ उक्त आरोपियों को दिनांक 15.06.2019 को माननीय अदालत के सम्मुख पेश करके पूछताछ हेतु 6 दिन के लिए पुलिस हिरासत रिमांड पर लिया गया है।
■ इनके कब्जा से कई विजिटिंग कार्ड मिले हैं जिनमे इन्होंने फ़ोटो तो अपने लगाए हैं लेकिन अलग अलग नाम व कम्पनी का नाम भी अलग अलग लिखा रखा है।
▪ पुलिस हिरासत रिमांड के दौरान उक्त आरोपियों से गहनता से पूछताछ की जाएगी। पूछताछ के दौरान आरोपियों द्वारा उपरोक्त अभियोग में की गई ठगी की रकम, फर्जी चेक बुक तथा अन्य दस्तावेजों सहित इस साजिश में शामिल अन्य साथी आरोपियों तथा अन्य वारदातों के बारे में पूछताछ की जाएगी पूछताछ के दौरान जो भी तथ्य सामने आएंगे, उनसे अवगत कराया जाएगा। अभियोग अनुसंधानाधीन है।

Post A Comment:

0 comments: