मनोज कुमार फरीदाबाद

गुड़गांव : जानकारी के मुताबिक, सेक्टर-49 स्थित एक अपार्टमेंट में डॉ. प्रकाश सिंह (50) अपने परिवार के साथ रहते थे। एक फार्मा कंपनी में नौकरी करते थे। डॉक्टर प्रकाश की पत्नी सोनू उर्फ कोमल एक निजी स्कूल चलाती थी। बेटी अदिति उम्र 18 साल जामिया यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन कर रही थी। बेटा आदित्य (15), स्कूल में पढ़ता था।

शहर के पॉश इलाके में एक डॉक्टर ने पत्नी और दो बच्चों की हत्या कर दी। इसके बाद खुद फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। सोमवार को सेक्टर-49 स्थित फ्लैट से चारों के शव बरामद किए हैं। पुलिस को फ्लैट से एक सुसाइड नोट भी मिला है। इसमें लिखा है कि वे अपने परिवार को सही तरीके से चला नहीं पाए। जो कुछ भी हुआ है इसके लिए कोई और नहीं वे खुद जिम्मेदार है।

डीसीपी सिलोचना गजराज ने बताया कि फ्लैट से पति-पत्नी और दोनों बच्चों के शव मिले हैं। शुरुआती जांच के मुताबिक, डॉ. प्रकाश ने पहले अपनी पत्नी सोनू और फिर दोनों बच्चों की हत्या की। इसके बाद उन्होंने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने उनकी जेब से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया। जांच व पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।

फ्लैट के एक कमरे में दोनों बच्चों और पत्नी का शव मिला। जबकि डॉक्टर का शव पुलिस को ड्राइंग रूम में सीलिंग फैन से लटका हुआ मिला। सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा कि परिवार को सही तरीके से चला नहीं, जिसकी पूरी जिम्मेदारी उन पर थी।

Post A Comment:

0 comments: