ई.वी.एम. से नहीं हो सकती किसी प्रकार की  छेडख़ानी -जिलाधीश अतुल द्विवेदी  वी.वी.पैट. मशीन पर देख सकेगें वोट की वेरिफ़िकेशन।
ई.वी.एम. और वी.वी. पैट की विश्वसनियता को जनता में कायम रखने के मकसद से बुधवार को मीडियाकर्मियों को दिया प्रशिक्षण।
फरीदाबाद,4 सितम्बर
 उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त अतुल द्विवेदी के मार्ग दर्शन में लघु सचिवालय कान्फ्रेंस हाल में 
स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए ई.वी.एम. और वी.वी. पैट की विश्वसनियता को जनता में कायम रखने के मकसद से ईवीएम तथा वीवीपैट  मशीनों की ट्रेनिंग को लेकर एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। ट्रेनिंग के लिए मीडियाकर्मियों को बुलाया गया, जिस में प्रिंट, इलैक्ट्रॉनिक व डिजिटल मीडिया से जुड़े पत्रकार शामिल हुए। 
 चुनाव तहसीलदार दिनेश कुमार  ने सभी मीडियाकर्मियों का स्वागत किया और ई.वी.एम. व वी.वी.पैट. की कार्य प्रणाली पर विस्तार पूर्वक जानकारी दी ।  उन्होंने बताया कि 1990  के आस-पास देश में ईवीएम यानि इलैक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन का प्रादुर्भाव हुआ। मकसद था, चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष रूप से होने चाहिएं।  इसके बाद वर्ष 2014 के चुनाव में देश के कई हिस्सों में वीवी पैट (वोटर वैरीफिएबल पेपर ऑडिट ट्रोल)प्रयोग में ली गई। हयिाणा में भी कई बूथों पर सैंपल के लिए वीवी पैट लगाई गई थी। 
 चुनाव तहसीलदार ने बताया कि  विगत लोकसभा आम चुनाव में सभी बूथों पर वीवी पैट उपलब्ध करवाई गई, जो पूर्ण रूप से अपने मकसद में सफल रही। वीवी पैट के जरिये कोई भी मतदाता अपनी पंसद के उम्मीदवार को  वोट करने के बाद उसे एक छोटी स्क्रीन पर 7 सेंकड के लिए एक स्लिप पर आसानी से देख सकता है जो स्वत: ही मशीन में गिर जाती है। उन्होंने बताया कि बैलेट युनिट, कंट्रोल यूनिट और वीवी पैट यानि तीनों डिवाईस से मिलकर ही कम्पलीट ईवीएम बनती है। ईवीएम फुलप्रूफ यानि अभेद्य है, इसे हैक नही किया जा सकता। टेंपरिंग या छेड़-छाड़ के बाद इसमें लगी मैमोरी चिप काम ही नहीं करेगी। इस प्रकार इनके प्रयोग को लेकर जनता या मतदाताओं में कदापि किसी प्रकार का भ्रम नहीं होना चाहिए। उन्होंने ईवीएम और चुनाव में इनके प्रयोग को लेकर मीडिया को कुछ और जानकारी दी और बताया कि चुनाव आयोग की हिदायत के अनुसार मतदान की तिथि से पूर्व, निर्वाचन से  जुड़े अधिकारियों को  कई तरह की प्रक्रियाएं पूरी करनी होती है, इनमें त्रिस्तरीय रैंडमाईजेशन प्रमुख रूप से होता है। प्रथम रैंडमाईजेशन में कौन सी मशीन किस निर्वाचन क्षेत्र में जाएगी, द्वितीय में किस मशीन के साथ कौन सी बी यू, सी यू, वी वी पैट लगेगी, और तीसरे रैंडमाईजेशन में कौन सी ई वी एम किस बूथ पर जाएगी शामिल है। तीनों के समय राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया जाता है ताकि पारदर्शिता बनी रहे। इसके अलावा मतदान से पूर्व मॉक पोल करवाना भी अनिवार्य होता है। उन्होंने मीडियाकर्मियों का आहवान किया कि वे मतदाताओं को मतदान करने के लिए जागरूक करे ताकि लोकतत्र मजबूत रहे। 
उन्होंने बताया कि जिला में 18 से  19  वर्ष के बीच के युवा मतदाता तथा महिलाओं को अपना वोट बनवाने और उसका प्रयोग करने के लिए स्वीप गतिविधियां जारी है। इसके लिए स्वीप वाहन गांव-गांव जाकर मतदाताओं को ई वी एम व वी वी पैट के प्रयोग बारे भी डैमो देकर जागरूक कर रहा है। ट्रेनिंग प्रोग्राम में एसडीएम ने पत्रकारों द्वारा पुछे गए सवालों या क्वैरी का समाधान भी किया। 
ट्रेनिंग के लिए विशेष तौर से बुलाए गए मास्टर ट्रेनर अमरीश कुमार, प्रदीप व हर्ष गिरधर ने ई.वी.एम. की तीनों सहायक डिवाईस यानि यंत्र जिनमें बैलेट यूनिट, कंट्रोल यूनिट व वीवी पैट शामिल है, को आपस में कनैक्ट करके चुनाव में वोट डालने हेतु कैसे तैयार किया जाता है, बारे विस्तार से डैमो दिया। उन्होंने बताया कि सबसे पहले बैलेट यूनिट को वीवी पैट के साथ और वीवी पैट को कंट्रोल यूनिट के साथ जोड़ा जाता है और फिर ईवीएम को वोट के लिए तैयार किया जाता है।
 फोटो संग्लन-ईवीएम और वीवीपैट मशीनों बारे भी विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए ट्रेनर।

000000000000000000000000000000000000000


फरीदाबाद,4 सितम्बर ।
उड़ीसा के महामहिम राज्यपाल प्रो0 गणेशी लाल ने कहा कि देश में फरीदाबाद के गणेश महोत्सव ने अलग पहचान बनाई है। श्राप और वरदान भारतवर्ष की पुरानी परंपरा रही है।
 महामहिम राज्यपाल प्रो0 गणेशी लाल बुधवार को फरीदाबाद के सैक्टर-17 में हरियाणा के उद्योग एवं वाणिज्य मन्त्री श्री विपुल गोयल द्वारा आयोजित गणेश महोत्सव में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत कर उपस्थित लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विश्व में भारत की राजनीतिक, धार्मिक और सामाजिक उत्थान में बेहतर कार्य करके अलग से पहचान बनाई है। उन्होंने कहा कि गणेश जी मा पार्वती की उबटन की उपज थी। शिव शंकर भगवान ने गुस्से में आकर गणेश जी सिर धङ से अलग कर दिया था, परन्तु मा पार्वती की कृपा से पुनः उसे यथावत करने का काम किया। जिससे गणेश जी शिव शंकर भगवान के सबसे चहेते बने।
 महामहिम राज्यपाल प्रो गणेशी लाल ने कहा कि देश की  सीमाओ पर भारत माता की रक्षा करने वाले देश भक्त सैनिक भी गणेशी जी के रूप मा भारती की रक्षा करते हैं ।
 उन्होंने गणेश महोत्सव में उपस्थित बच्चों से आह्वान किया  कि वे घर से स्कूल व अन्य जरूरी कार्य के लिए जाने पहले आशीर्वाद ले तो उन्हें सौ फीसदी सफलता मिलेगी । उन्होंने कहा कि  प्रधानमन्त्री नरेन्द्र भाई मोदी जी भी अपने जन्मदिन पर सबसे पहले उनकी माता जी से देश की रक्षा बिना भेदभाव के करने का आशीर्वाद लेते हैं ।
 महामहिम राज्यपाल प्रो गणेशी लाल ने गणेश महोत्सव के आयोजन पर उद्योग एवं वाणिज्य मन्त्री श्री विपुल गोयल को बधाई और शुभकामनाएं भी दी।
  हरियाणा के उद्योग एवं वाणिज्य मन्त्री श्री विपुल गोयल ने गणेश महोत्सव में आए हुए सभी मेहमानों का हार्दिक स्वागत किया।उन्होंने सभी मेहमानों का शाल ओढा कर तथा स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित भी किया ।
 गणेश महोत्सव में हरियाणा पीडब्लूडी बीएण्ड आर मिनिस्टर राव नरबीर सिंह , भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष जे पी दलाल सहित कई अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे।
 फोटो कैप्शन- महामहिम राज्यपाल प्रो गणेशी गणेश महोत्सव में पूजा अर्चना करते हुए ।
 - महामहिम राज्यपाल प्रो गणेशी लाल तथा पीडब्लूडी बीएण्ड आर मिनिस्टर राव नरबीर सिंह को उद्योग एवं वाणिज्य मन्त्री श्री विपुल गोयल सम्मानित करते हुए ।

0000000000000000000000000000000000000000


युवाओ के वोट बनवाने के लिए निर्वाचन आयोग गम्भीर - जिला निर्वाचन अधिकारी अतुल द्विवेदी।
 कालेजों में जागरूकता  गतिविधियां तेज करने के दिये निर्देश। 

फरीदाबाद , 4 सितंबर। 
 उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अतुल कुमार द्विवेदी ने कहा कि निर्वाचन आयोग अधिक से अधिक युवाओं को वोट बनवाने के लिए गम्भीरता से कार्य कर रहा है। इसके लिए जिला के सभी कालेजों और उच्च शैक्षणिक संस्थानों में युवाओं के वोट बनवाने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त करना सुनिश्चित करें।
 उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त अतुल द्विवेदी ने यह निर्देश विधानसभा क्षेत्र के पंजीयन अधिकारियों और विभिन्न कालेजों के प्रतिनिधियों साथ आयोजित बैठक में दिए । उन्होंने  जिला में मतदाताओं को अधिक से अधिक वोट बनवा कर  मतदान के प्रति जागरूक करें ।उन्होंने कहा कि ऐसे युवकों/युवतियों  जिनकी आयु एक जनवरी 2019 को अठारह वर्ष हो गई है , उन्हें अपना वोट बनवाने के प्रेरित करने के निर्देश भी दिये ।
 उन्होंने कहा कि मतदाताओं को जागरूक करके सम्भावित  विधानसभा चुनाव में मतदान प्रतिशत को बढ़ाने पर विशेष फोकस किया जाए।उन्होंने कहा कि योग्य युवाओं के वोट बनवाना और   मतदान करना प्रत्येक मतदाता का ऐसा अधिकार है, जो उसे लोकतंत्र में विशिष्ट स्थान प्रदान करता है। मतदान की बढ़ती प्रतिशतता स्वस्थ लोकतंत्र की निशानी है। उन्होंने कहा कि जिला में विशेष जागरूकता अभियान चलाया जाए कि आगामी विधानसभा सभा चुनाव में गत लोकसभा चुनाव के मुकाबले मतदाता अधिक मतदान  करके लोकतांत्रिक व्यवस्था को मजबूत करने में भागीदार बनें ।
 जिला निर्वाचन अधिकारी ने  कहा कि सभी निर्वाचक पंजीयन अधिकारी यह सुनिश्चित करें, कि उनके विधानसभा क्षेत्र में मतदाताओं को जागरूक करने के लिए विविध गतिविधियां आयोजित की जाएं। इसके लिए स्कूल-कॉलेजों और उच्च शैक्षणिक संस्थानों में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करवाए जाएं तथा पोस्टर, बैनर, स्लोगन व पेंटिंग प्रतियोगिताएं भी आयोजित करवाई जाएं। इसके लिए प्रचार माध्यमों का भी सदुपयोग किया जाएगा। सरकारी सेवाएं प्रदान करने वाले सभी केंद्रों पर आने वाले व्यक्तियों, युवाओं, महिलाओं व लड़कियों को भी जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि जिला में सभी कॉलेज व विश्वविद्यालय में जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन करवाया जाना सुनिश्चित करें ।
 जागरूकता गतिविधियों के अंतर्गत यह भी सुनिश्चित किया जाए कि पहली बार मतदान करने वाले युवाओं को मतदान प्रक्रिया के संबंध में समुचित रूप से प्रशिक्षित व जागरूक किया जाए।
उन्होंने कहा कि जिला में पात्र युवाओं के नए वोट बनाने की प्रक्रिया निरंतर जारी है। जो पात्र युवा अभी तक किसी कारणवश अपना वोट नहीं बनवा सके हैं, उनका पूरा ब्यौरा उपायुक्त कार्यालय में भिजवाना सुनिश्चित करें। 
फोटो कैप्शन -उपायुक्त अतुल द्विवेदी बैठक को संबोधित करते हुए तथा उपस्थित अधिकारी ।



 
 

Post A Comment:

0 comments: