रिपोर्टर महावीर प्रसाद


वृंदावन(मथुरा)। तीर्थनगरी वृंदावन में एक दिसंबर को ठाकुर बांकेबिहारी का प्राकट्योत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। यहां बांकेबिहारी मंदिर को सजाया जाएगा। निधिवन से बांकेबिहारी मंदिर तक भव्य शोभायात्रा निकाली जाएगी। इसमें चांदी के रथ में स्वामी हरिदास महाराज बांकेबिहारी मंदिर पहुंचकर प्राकट्योत्सव की बधाई देंगे। शोभायात्रा में देश के कई शहरों के विभिन्न प्रकार के बैंड भी शामिल होंगे। ठाकुर बांकेबिहारी महाराज की प्राकट्य स्थली निधिवन में 1 दिसंबर को प्रात: 4:30 बजे प्राकट्य स्थल पर पंचामृत से अभिषेक किया जाएगा। पंचामृत में दूध, दही, शहद, घृत, शक्कर शामिल हैं। करीब 1 घंटे से अधिक समय तक कुंज बिहारी श्री हरिदास के बोलों के बीच अभिषेक होगा। इसके बाद प्रात: 8 बजे निधिवन से बांकेबिहारी मंदिर के लिए धूमधाम से शोभायात्रा निकाली जाएगी। शोभायात्रा में चांदी के रथ में बांकेबिहारी के प्राकट्यकर्ता स्वामी हरिदास महाराज का चित्रपट विराजमान होगा।
चांदी का रथ पुष्पों व लता पताओं से सजाया जाएगा। इसके अलावा ठा. बांकेबिहारी, राधाकृष्ण, भगवान गणेश, भगवान शिव, स्वामी बिट्ठल विपुल महाराज की झांकियां होंगी।कि जन-जन के आराध्य ठाकुर बांकेबिहारी महाराज के प्राकट्योत्सव पर निधिवन में प्रात: अभिषेक के पश्चात शोभायात्रा निकाली जाएगी। इसमें ठाकुर बांकेबिहारी महाराज का बधाई तिलक लेकर निधिवन से सवारी के रूप में स्वामी हरिदास जी जाएंगे। ठाकुर बांकेबिहारी महाराज का आज के दिन केसर मोहन भोग (केसर हलुआ) का विशेष भोग लगता है। जो जगह-जगह ठाकुरजी के प्रसाद के रूप में बंटता है।

Post A Comment:

0 comments: