रिपोर्टर महावीर प्रसाद

24 घंटे में पुलिस ने धरदबोचा, सोशल मीडिया का नटवरलाल     
-सोशल मीडिया पर पुलिसवाला बन फंसाता था लोगों को
-महिला से 1.35 लाख रूपये ठग ने के साथ ही किया  शारीरिक शोषण     
-पहले भी जा चुका है इसी तरह के आरोप में जेल
-सेना का फर्जी नियुक्ति प्रमाणपत्र तक कर देता था जारी

मथुरा। सोशल मीडिया के नटवर लाल को थाना हाइवे पुलिस ने महज 24 घंटे के अंदर धर दबोचा। एसएसपी शलभ माथुर ने इस कार्यवाही में सामिल रहे पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को बधाई दी है। सोशल मीडिया का नटवरलाल बेहद शातिर निकला। उसके कारनाम जैसे जैसे सामने आते गये पुलिस टीम भी चकित रह गई। सेना के फर्जी तक जारी कर चुका था।  तो सोशल मीडिया पर खुद को पुलिस की वर्दी में दिखा कर पुलिसवाला बताता रहा। पुलिस अभी उसके द्वारा ठगी के शिकार हुए लोगों की पडताल कर रही है। गिरफ्तार करने वाली टीम के अधिकारियों का मानना है कि अभी कई और चैंकने वाले तथ्य सामने आ सकते हैं।       
थाना हाइवे में झारखण्ड की रहने वाले एक महिला ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि नौकरी के नाम पर उससे 1.35 लाख रूपये ठगने के साथ ही शारीरिक  शोषण भी किया है। एसीएसटी एक्ट सहित दूसरी संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस ने नटवर लाल की तलाश  शुरू की तो वह 24 घंटे भी पुलिस के दबाव को नहीं झेल सका। 
प्रभारी निरीक्षक थाना हाइवे सधुवन राम गौतम ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त तेजपाल बेहद शातिराना तरीके से लोगों को अपने जाल में फंसता था। इसके लिए उसने सोशल मीडिया का सहारा लिया और पुलिस की वर्दी में अपने आई कार्ड बनाकर फेसबुक पर डालता रहा। अपनी पुलिस में नौकरी बताकर लोगों से दोस्ती करता था तथा उन्हंे बताता था कि उसकी बहुत बडी पहुंच है। इस प्रकार लोगो से दोस्ती कर नौकरी लगवाने का लालच देकर उनके साथ ठगी करता रहा। इसी तरह उसने छत्तीसगढ की एक महिला को अपना शिकार बनाया तथा फेसबुक के माध्यम से उससे दोस्ती कर उसे मथुरा बुलाकर नौकरी का लालच देकर उसके साथ शारीरिक शोषण किया। 1.35 लाख रूपये उससे ठग लिये। जिसे सम्बन्ध मे थाना हाइवे पर पीडिता ने मुकदमा दर्ज कराया था। इसी प्रकार एक दूसरे मामले में भी नौकरी का झांसा देकर इससे 1.26 रूपये ठगे थे। उसे फर्जी नियुक्ति पत्र आर्मी विभाग का जारी कर दिया। जब वह व्यक्ति विभाग में ज्वाइनिंग के लिए गया तब उसे अपने साथ हुई ठगी का पता चला। इस सम्बन्ध में भी मुकदमा दर्ज हुआ था। इसके अलावा भी तेजपाल ने कई लोगो को अपना शिकार बनाया है। उसके द्वारा ठगी के शिकार हुए लोगों की पुलिस जांच कर रही है। इसके अतिरिक्त थाना नाई की मण्डी आगरा से वर्ष 2015 में इसी तरह के प्रकरण मे तेजपाल जेल जा चुका है। तेजपाल को पुलिस ने सौंख रोड से गिरफ्तार किया है। इसके कब्जे से एक पिस्टल 32 वोर व 2 जिन्दा कारतूस 32 वोर, उत्तर प्रदेश पुलिस की एक वर्दी खाकी मय वैज उत्तर प्रदेश  पुलिस वैरिट कैप वैल्ट मय चपरास यूपीपी व एक मोहर रवङ, एक जंजीर पीली धातु, 5 नियुक्ति पत्र, दो परिचय पत्र व 5 पासपोर्ट साइज फोटो वर्दी में व 12 सादा फोटो पुलिस ने बरामद किये हैं।

Post A Comment:

0 comments: