विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद, 17 जनवरी:  मानव रचना यूनिवर्सिटी में एफजीएसआई (फाउंडेशन फॉर ग्लोकल साइंस इनिशिएटिव) की ओर से यश-2020 (YOUTH ACTIVITIES FOR SUPERIOR HUMANITY) का आयोजन किया गया। 18 जनवरी तक चलने वाले इस कार्यक्रम में इंडोनेशिया, रशिया, नेपाल और भारत के 80 से ज्यादा हिस्सा ले रहे हैं। आज इंजीनियरिंग और अप्लाइड साइंसिस, एग्रीकल्चरल साइंसिस, हेल्थ साइंसिस एंड वेलनेस और अर्थ एंड स्पेस साइंसिस से जुड़े प्रोजेक्ट्स डिस्प्ले किए गए। इसके अलावा अलग-अलग विषयों पर कॉम्पिटीशन भी आयोजित किए गए, जिनमें सोशियोलॉजी, साइकोलॉजी, जियोग्राफी, इकॉनॉमिक्स और हिस्ट्री शामिल रहे। छात्रों की हिस्सेदारी को बढ़ाने के लिए क्रिएटिव कॉम्पिटीशन भी रखा गया, जिसके तहत टेक फेशन शो, रोल द व्हील (विडियो ग्राफी/फिल्म मेकिंग), आर्ट वर्क और टेक्निकल पेपर राइटिंग आयोजित किए गए।

यश 2020 के बारे में एक संक्षिप्त जानकारी साझा करते हुए एफजीएसआई के अनुज सिन्हा ने कहा: "एक अच्छा प्रर्वतक वह होता है जिसके पास एक विचार होता है और वह उस विचार को कभी नहीं छोड़ता है जब तक कि वह अपनी मंजिल तक नहीं पहुंच जाता"। उन्होंने सभी प्रतिभागियों को वैज्ञानिक समाधान विकसित करने के लिए प्रोत्साहित किया जो मिलेनियम डेवलपमेंट गोल्स को संबोधित करते हैं।

डॉ. एसके वार्ष्णेय ने इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया। उन्होंने मानव रचना और एफजीएसआई द्वारा आयोजित कार्यक्रम की तारीफ की। उन्होंने कहा, इस तरह के कार्यक्रमों से छात्रों को एक-दूसरे से कुछ नया सीखने को मिलता है और इनोवेशन को बढ़ावा मिलता है।

इस दौरान मानव रचना के वीसी डॉ. आईके भट्ट ने कार्यक्रम में सबका स्वागत किया। कार्यक्रम में छात्रों के साथ-साथ मानव रचना यूनिवर्सिटी और एफजीआएसआई के वरिष्ठ लोग मौजूद रहें। 18 जनवरी को नोएडा स्थित किडजानिया में कार्यक्रम का समापन होगा, जिसमें छात्रों को सम्मानित किया जाएगा।

Post A Comment:

0 comments: