प्रमोद कुमार जायसवाल की रिपोर्ट -: *नई दिल्ली*- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रात 8 बजे देश को संबोधित करने वाले हैं। कोरोनावायरस महामारी की वजह से देश भर के लोग फिक्रमंद हैं। ऐसे में पीएम मोदी इससे निपटने के कुछ उपायों पर बातचीत कर सकते हैं। इससे पहले प्रधानमंत्री कार्यालय ने बुधवार को ट्वीट करके बताया था कि पीएम मोदी इस महामारी को रोकने से जुड़े मामलों पर बात कर सकते हैं। देश में कोरोनावायरस महामारी का संक्रमण अभी दूसरे स्टेज में है। यानी अभी इसका संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को हो रहा है। तीसरे स्टेज में यह इसका संक्रमण किसी कम्युनिटी या लोगों की भीड़ में फैल सकता है। अभी भारत में कोरोनावायरस के 177 मामले हैं। दुनिया भर में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 2 लाख से ज्यादा हो चुकी है। वहीं इससे मरने वाले लोगों की तादाद 8800 लोगों की मौत हो चुकी है। PMO ने बुधवार को कई ट्वीट करके कहा था कि पीएम मोदी ने उच्चस्तरीय बैठक की है और COVID-19 से निपटने के उपायों पर चर्चा की।

*➡️क्यों जरूरी है Isolation?*

पीएम मोदी ने कहा कि सरकारी सेवा, अस्पताल और मीडिया की सक्रियता जरूरी है लेकिन जिन लोगों के लिए जरूरी नहीं है वह घर से बाहर ना निकलें। मैं एक और चीज मांगता हूं कि जनता कर्फ्यू लगाया जाए। 22 मार्च, रविवार को सुबह 7 बजे रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू का पालन करना है।

*➡️सजग रहना जरूरी*

पीएम मोदी ने कहा कि अगर आपको ये लगता है कि आप घूमेंगे और आप कोरोना के संक्रमण में नहीं आएंगे तो यह सोचना गलत है। क्योंकि ऐसा करके आप अपने और अपने परिवारवालों को भी खतरे में डालेंगे। हमारे परिवार में जो भी सीनियर सिटिजन हैं वो आने वाले कुछ सप्ताह तक घर से बाहर ना निकलें।

*➡️तेजी से बढ़ता संक्रमण*

आज 130 करोड़ देशवासियों को यह संकल्प लेना होगा कि इस माहामारी को रोकने के लिए एक नागरिक के नाते अपने कर्तव्य का पालन करेंगे. केंद्र सरकार और राज्य सरकार के दिशानिर्देशों का पूरी तरह पालन करेंगे। हमें यह संकल्प लेना होगा कि हम खुद संक्रमण से बचेंगे और दूसरों को भी बचाएंगे। इसलिए हमारा मंत्र होना चाहिए कि “हम स्वस्थ तो जग स्वस्थ” इसके साथ ही हमें संयम रखना चाहिए। हमारा संकल्प और संयम इस महामारी से लड़ने में बड़ी भूमिका निभाने वाला है।

*➡️तेजी से बढ़ता संक्रमण*

पीएम मोदी ने कहा कि आज तक मैंने आपसे जो भी मांगा है आपने दिया है। इस बार मुझे आपके 2-4 हफ्ते चाहिए। अभी तक जितने भी देशों में कोरोनावायरस का संक्रमण फैला है, वहां देखा गया है कि शुरुआती कुछ दिनों के बाद संक्रमण का विस्फोट हुआ। लिहाजा इसका संकट बढ़ गया है।

*➡️कोरोनावायरस का संकट बहुत बड़ा*

पीएम मोदी ने कहा, पहले विश्व युद्ध और दूसरे विश्व युद्ध में जितने लोग प्रभावित नहीं हुए थे, उससे ज्यादा लोग कोरोनावायरस संक्रमण से प्रभावित हैं। कोरोनावायरस को हल्के में नहीं लेना चाहिए। इसकी वजह से पूरी मानव जाति खतरे में पड़ गई है।

Post A Comment:

0 comments: