रामकेश  की रिपोर्ट :- *उत्तर प्रदेश* यूपी बोर्ड रिजल्ट में 90% से अधिक अंक मिलने पर दोबारा चेक होगी कापियां, परीक्षकों को देना होगा अंडरटेकिंग!

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की कापियों का मूल्यांकन आज 16 मार्च 2020 से शुरू होगा. इन कापियों के मूल्यांकन में करीब 1.47 लाख परीक्षक लगाए गए हैं. इन परीक्षकों के द्वारा प्रदेश भर में बने 275 केन्द्रों पर लगभग 3 करोड़ से अधिक कापियों का मूल्यांकन किया जायेगा. इस बार यूपी बोर्ड की कापियों का मूल्यांकन सीसीटीवी कैमरों की नजर में हो रहा है. अर्थात प्रत्येक मूल्यांकन केंद्र कैमरे की नजर में हैं.

यूपी बोर्ड की कापियों के मूल्यांकन के लिए देना होगा अंडरटेकिंग,
इस बार यूपी बोर्ड की उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन की खास बात यह है कि जिन उत्तर पुस्तिकाओं में 90% या उससे अधिक अंक मिलेंगें उसे परीक्षकों को अपने उप प्रधान परीक्षक के सामने प्रस्तुत करते हुए उनकी सहमति या असहमति की आख्या लेते हुए मूल्यांकन की पुष्टि करवानी होगी.  इसके साथ ही इस बार बोर्ड द्वारा मूल्यांकन केंद्र के प्रभारी को एक निर्देश भी भेजा गया है जिसमें यह कहा गया है कि मूल्यांकन करने वाले प्रत्येक परीक्षक को एक अंडरटेकिंग देनी होगी. जिसमें  लिखित रूप से कहा होगा कि – मेरे द्वारा किए गए मूल्यांकन कार्य में यदि किसी प्रकार की अनियमितता पायी जाती है तो उसके लिए मैं व्यक्तिगत रूप से उत्तरदायी होऊंगा तथा उक्त के क्रम में मेरे विरुद्ध जो भी कार्यवाही की जाएगी, मुझे मान्य होगी.

15% कापियों का होगा ऑडिट

इस बार प्रतिदिन यूपी बोर्ड की 15% कापियों का ऑडिट होगा. इसके लिए प्रतिदिन परीक्षकों द्वारा मूल्यांकित उत्तर पुस्तिकाओं में से रैंडमली 15% कापियां निकाली जायेंगी और उन कापियों को ऑडिट किया जायेगा. 

*यूपी बोर्ड की कापियों के मूल्यांकन के लिए परीक्षकों को निर्देश*
1,गलत हल पर शून्य अंक दिया गया.
2,संपूर्ण प्राप्तांक का योग कापियों के मुख्य पृष्ठ पर अंकों एवं शब्दों में लिखा गया.
3,हाईस्कूल की 50 या इंटर की 45 उत्तरपुस्तिकाएं मूल्यांकन के लिए दी गई.
4,कापियों में हल किए गए प्रत्येक खंड/प्रश्न पर अंक दिए गए.!

Post A Comment:

0 comments: