धीरेन्द्र नाथ शुक्ल की रिपोर्ट :उत्तर प्रदेश  गोरखपुर:- में गुरुवार की रात में अचानक आई बारिश और ओलावृष्टि गोरखपुर में किसानों की कमर तोड़ दी। गोरखपुर जिले में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से 16 वर्षीय युवक की मौत हो गई। फसलों को भी भारी क्षति पहुंची।

गोरखपुर के बांसगांव तहसील अंतर्गत ग्राम लाहीडाढी में 16 वर्षीय उपेंद्र यादव पुत्र रामसकल की आकाशीय बिजली की चपेट में आने से मौत हो गई। इसके पहले 7 मार्च को आई आंधी और तेज बारिश में चौरी-चौरा के लकड़ीहां गांव में आकाशीय बिजली से आशा देवी पत्नी रामकरण शर्मा की मौत हो गई थी। गोरखपुर जिले में गुरुवार की रात 3 बजे से तेज हवाओं के साथ बारिश और ओला वृष्टि शुरू हुई। धीरे-धीरे सभी सभी क्षेत्रों में बारिश और ओला वृष्टि होने लगी। बारिश में गेहूं, अरहर और सरसों की फसलों को काफी क्षति हुई। हालांकि शुक्रवार को अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व विभाग से मिली रिपोर्ट के मुताबिक जिले में फसलों को क्षति 33 फीसदी से कम हुई है। इसलिए आपदा के अंतर्गत क्षति शुन्य है। हालांकि तहसीलों से 10 से 12 फीसदी तक क्षति रिपोर्ट की गई है। 7 मार्च को हुई बारिश में आपदा विभाग ने 337 किसानों के यहां 27.399 हेक्टेयर में फसलों में 18 फीसदी तक क्षति रिपोर्ट की थी।

किसान रमेश सिंह, भूपेंद्र पाण्डेय, धीरेंद्र पाण्डेय कहते हैं कि गेहूं की फसल को 6-7 मार्च को हुई बारिश और आंधी में काफी क्षति पहुंची थी। बची खुची कसर गुरुवार-शुक्रवार की बारिश ने पूरी कर दी है। गिरी हुई गेहूं की फसल की कटाई में काफी दिक्कत होगी। किसानों को कहना है कि उनकी फसलों को 50 फीसदी तक क्षति पहुंची है। कम्बाइन से हार्वेस्टिंग कराने में काफी दिक्कत और क्षति होगी। खोराबार, सहजनवा, पीपीगंज, कैम्पियरगंज, पिपरौली, गोला, बडहलगंज, सभी ब्लाक में गुरुवार की रात की बारिश से किसानों को काफी क्षति उठानी पड़ी है!

Post A Comment:

0 comments: