REPORTER    KANHIYA SHARMA    MATHURA U.P
फोटो परिचय-प्रेम बिहारी गोस्वामी।
- राधा रानी मंदिर में शाम के समय समाज गायन ताल मृदंग ढप के साथ किया जा रहा है देवकीनंदन गोस्वामी का कहना है हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी आने श्रद्धालु भक्तजन अभी से बरसाना में डेरा डाले हुए हैं इस बार भी खूब रंग और लड्डू की बरसात होगी बरसाना की होली का अपने आप में अलग ही महत्व है हमारा सौभाग्य है हमें बरसाने का वास मिला रसिक जन कहते हैं बरसाने के बास की आस करें शिव शेष, जाकी महिमा को कहें कृष्ण धरे सखी भेष

फोटो-29 यूपीएच मथुरा 01ई


 रंग रंगीली नारी मगन है खेलत होरी


1. जोबन भीजत अंग अंग भीजत भीजत चूंनरि सारी।।
इत उत डोलत घूंघट खोलत मारै कुचन पिचकारी।।
मेरी सब लाज उतारी।। - रंग रंगीली नारी।।

2. जोबन देख भ्रमर बन जावै रस सींचत गिरधारी।।
जित जाऊं तित आ मोये घेरै रसिया छैलबिहारी।।
लाज कुल कान बिसारी - रंग रंगीली नारी।।

3. रूप रसीली नागरि सुन्दरि बोलौ बचन सम्हारी।।
एक कहैगी मेरी दोय सुन लिंगी सास खसम की गारी।।
तुमहिं सब बात बिगारी - रंग रंगीली नारी।।

4. दोउ ओरन तै ऐसे बचन सुन हँस रहीं भानु दुलारी।।
कहै माधव प्रभु रूप अली सों जीत पै हों बलिहारी।।
बरस रह्यौ आनंद भारी।। - रंग रंगीली नारी।।

Post A Comment:

0 comments: