रिपोर्टर उत्तर प्रदेश कन्हैया शर्मा
मथुरा। “सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाए”। यह मुहावरा तो आपने कई बार सुना होगा पर इसे चरित्रार्थ कर दिखाया है इंडियन ऑयल की मथुरा रिफाइनरी ने। महामारी कोरोना वाइरस की इस लड़ाई में एक ओर जहां मथुरा रिफाइनरी ईंधन आपूर्ति में लगी हुई है, वहीं दूसरी ओर आमजन और असहाय लोगों की मदद के लिए भी हर संभव प्रयास कर रही है।
मथुरा रिफाइनरी के कार्यकारी निदेशक एवं रिफाइनरी प्रमुख श्री अरविंद कुमार ने बताया कि यह हमारे लिए गर्व की बात है कि इस लॅाकडाउन के दौरान हमें ईंधन आपूर्ति कर देश की सेवा करने का मौका प्राप्त हुआ है। हम अपने कर्म के साथ ही आफीसर्स एसोसिएशन, कर्मचारी संघ एवं सभी अधिकारियों-कर्मचारियों के सहयोग से सामाजिक उत्तरदायित्व का भी पूर्ण निर्वाहन करने में लगे हुए हैं। उन्होंने बताया कि रिफाइनरी प्रबंधन द्वारा करीब 300 लीटर सेनेटाइज़र अब तक जिला प्रशासन एवं जेल प्रशासन को  दिया गया है। पेरोल पर छूटे जेलबंदियों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए रिफाइनरी द्वारा एक बस भी जेल प्रशासन को मुहैया कराई गई थी।  रिफाइनरी के आस-पास के गांवों के लोगों का भी हम पूर्ण ध्यान रख रहे हैं। इन गांवों के लोगों को बड़ी संख्या में मास्क आदि प्रदान किए जा चुके हैं। गरीब, असहाय और जरूरतमंदों को रिफाइनरी द्वारा खाने के पैकेट वितरित किए गए हैं और यह क्रम निरंतर जारी है। उन्होंने कहा कि बिटुमिन के ट्रक ले जा रहे चालकों को खाने के पैकेट, साबुन एवं मास्क दिए जा रहे हैं, ताकि उन्हें रास्ते में किसी प्रकार की असुविधा ना हो।
रिफाइनरी के अधिकारी-कर्मचारी, संविदाकर्मी एवं टाउनशिप में काम करने वाले लोगों के लिए प्रबंधन द्वारा मास्क बनवाए जा रहे हैं। वहीं इस वाइरस से बचाव के लिए रिफाइनरी एवं टाउनशिप में सेनेटाइज़र का निरंतर छिड़काव किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस विषम परिस्थिति में भी हम अपनी जिम्मेदारियों को कोविड19 को लेकर जारी दिशा निर्देशों और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए पूरा करने में लगे हुए हैं। लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक करने के लिए हम आस पास के गांवों और शहर के कई हिस्सों में लाउड स्पीकर से अनांउसमेंट पहले ही करा चुके हैं। इंडियन ऑयल और मथुरा रिफाइनरी परिवार सभी की सेवा और सुरक्षा के लिए कटिबद्ध है।
उन्होंने बताया कि रिफाइनरी में चैबीसों घंटे काम चालू है और हमारे सभी यूनिट्स सुचारू रूप से काम कर रही हैं। 21 दिवसीय इस लॅाकडाउन के दौरान लोग घरों मे हैं जिससे पट्रोल डीजल की खपत में कमी आई है, लेकिन घरेलू गैस सिलेंडर्स की डिमांड बढ़ गई है। इसे देखते हुए हमने अपनी कुछ यूनिट्स में काम की गति को कम करते हुए एलपीजी का उत्पादन बढ़ा दिया है। उन्होंने कहा कि रिफाइनरी पूर्ण रूप से बीएसVI ईंधन का उत्पादन करती है और हमारे पास इसका पूर्ण भंडार है, इसलिए हमने अपना पूर्ण ध्यान घरेलू गैस सिलेंडर्स के उत्पादन पर लगा दिया है। उन्होंने बताया कि ईंधन के पूर्ण भंडारण के साथ ही रिफाइनरी में बिटुमिन भी काफी मात्रा में था। रिफाइनरी में काम को लंबे समय तक सुचारू रूप से चलाने के लिए बिटुमिन की निकासी अत्यंत आवश्यक होती है। जिला प्रशासन की अनुमति एवं उत्तर प्रदेश लोकनिर्माण विभाग (यूपीपीडब्ल्यूडी) के सहयोग से अब हम बिटुमिन के खेप भी आसानी से निकाल पा रहे हैं। रोज करीब 100 ट्रक बिटुमिन प्रदेश एवं देश के अलग-अलग हिस्सों में पहुंचाया जा रहा है।

Post A Comment:

0 comments: