आशीष  कुमार गुप्ता की रिपोर्ट- नई दिल्ली-:BWFS कंपनी पर BWFS एयरपोर्ट कर्मचारी संघ का बड़ा आरोप।

इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट, नई दिल्ली पर कार्यरत Bird Worldwide Flight Service India Pvt. Ltd.  पर अपने ही कंपनी के संगठन का आरोप है कि कंपनी पिछले महीने की सभी कर्मचारियों का वेतन पूरा नही दिया और इसके साथ-साथ जो अतिरिक्त समय मे काम किया गया था उसका पैसा तो बिल्कुल ही नही मिला।
  संवाददाता से विशेष बात-चीत में कर्मचारी संघ के  फूलबदन पासवान ने बताया कि कंपनी के वेतन देने का सिस्टम ऐसा कि 20-20 तारीख का हर महीने में उपस्थिति के आधार पर कर्मचारियों को वेतन महीने की 30 तारीख से लेकर अगले महीने की 1 या 2 तारीख तक दे दिया जाता है और जो अतिरिक्त समय (ओवरटाइम) का भुगतान रहता है वह हमेशा एक महीने का होल्ड कंपनी के पास रहता है। जैसे कि फरवरी महीने के ओवर टाइम का भुगतान मार्च महीने के सैलरी के साथ दिया जाता है।  उन्होंने बताया कि इस बार 20 फरवरी से लेकर 20 मार्च तक जो कर्मचारियों ने काम किया था उसका भुगतान भी समय पर नही किया गया उल्टा वेतन से कटौती बिना किसी प्राथमिक सूचना के, बिना किसी कारण से किया गया साथ ही साथ जो ओवर टाइम का किया गया कार्य था उसका भुगतान किसी भी कर्मचारी को नही किया गया।
इस बावत प्रार्थना पत्र श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, श्रम शक्ति भवन, भारत सरकार, नई दिल्ली को भी दिया गया था। मंत्रालय के हस्तक्षेप के बाद कंपनी ने कर्मचारियों का मासिक भुगतान किया उसमे भी वेतन में कटौती की गयी। पासवान ने आगे बताया कि एक तो इस बात की कोई सूचना नहीं है कि कटौती किस लिए की गयी, न ही इस बात की कोई जानकारी दी गयी कि ओवर टाइम का भुगतान समस्त कर्मचारियों का क्यों नही किया गया?

पासवान ने आगे बातचीत में बताया कि देश की राजधानी दिल्ली में जब कर्मचारियों की आवाज़ कर्मचारी संघ होने के बाद भी दबाई जा रही है तो देश के बाकी हिस्सों में क्या हाल होगा ये आप समझ सकते है। कंपनी हमेशा से ही तानाशाही रवैया अपनाती रही है और कर्मचारियों का मानसिक शोषण करती रही है। आये दिन यहां कर्मचारियों को कंपनी मैनेजमेंट द्वारा मानसिक तौर पर प्रताड़ित किया जाता रहा है।

जहा एक तरफ देश कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से जूझ रहा है वहाँ ये कंपनी कर्मचारियों का काम किया हुआ पैसा जब नही दे रही है तो लॉकडाउन में घर बैठने पर भुगतान कैसे करेगी?? इस बात की आशंका व कश मकश समस्त कर्मचारियों के दिलों दिमाग मे चल रही है।

एक सवाल के जबाब में पासवान ने बताया कि अभी सब लोग माननीय प्रधानमंत्री के निर्देशानुसार लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं लेकिन अवश्यकता पड़ने पर कंपनी पदाधिकारियों से इस संदर्भ में बात की जाएगी। कर्मचारी संघ का ये दायित्व है और इसका निर्वहन करने हमे बखूबी आता है।

Post A Comment:

0 comments: