Greater Faridabad: A case study on affordable housing destinations ...
Admin
फरीदाबाद 15 मई 
जिलाधीश यशपाल ने सरल पोर्टल पर पास जारी करने की व्यवस्था बनाए रखने के उद्देश्य से डिप्टी सिस्टम एक्जिक्यूटिव आॅफिसर फरीदाबाद अमिताभ कुमार को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। आदेशों में बताया कि ये अधिकारी गृह मंत्रालय व जिलाधीश द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार मूवमेंट पास जारी करेंगे। उन्होेंने कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण राष्ट्रव्यापी लाॅकडाउन लागू है, जिस कारण जिला से बाहर जाने के लिए इस कार्यालय द्वारा पास जारी किए जा रहे हैं। फरीदाबाद, 15 मई।
जिलाधीश यशपाल ने लॉकडाउन अवधि में 10 कर्मचारियों तक वाले उद्योगों, औद्योगिक संस्थानों एवं व्यावसायिक संस्थानों, जिन्हें सरल पोर्टल पर आटो मोड से काम करने की अनुमति मिली है, की चेकिंग के लिए क्षेत्रवार तीन कमेटियां गठित की है। ये कमेटियां अपनी इन यूनिटों की निगरानी करेंगी तथा अपनी साप्ताहिक रिपोर्ट उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव व उपायुक्त का भेजना सुनिश्चित करेंगी। जिलाधीश ने बताया कि मुख्यमंत्री हरियाणा प्रतिदिन कोविड-19 की मानीटरिंग मीटिंग लेते हैं, जिसमें निर्णय लिया गया कि 10 कर्मचारियों तक की यूनिट से मेडिकल सुरक्षा के संबंध में स्व घोषित प्रमाण पत्र भी लिया जाए। जिलाधीश ने बताया कि कोरोना संक्रमण के फैलाव से बचने के लिए औद्योगिक संस्थानों को कुछ शर्ताें के साथ चलाने की अनुमति दी गई है। ऐसे में इनकी निरंतर मानीटरिंग की आवश्यकता है, ताकि एमएचए द्वारा दिशा-निर्देशों की अनुपालना हो सके। उन्होंने बताया कि फरीदाबाद उपमंडल के लिए गठित प्रथम कमेटी में एचएसआईआईडीसी के संपदा अधिकारी विकास चैधरी प्रभारी होंगे, जबकि उनके साथ एचएसआईआईडीसी के वरिष्ठ प्रबंधक मनोज कुमार, जिला उद्योग केंद्र के निरीक्षक दीपक कुमार तथा औद्योगिक संगठन के कार्यकारी निदेशक परविंदर सिंह सदस्य होंगे।
इसी प्रकार बल्लबगढ़ उपमंडल स्तरीय दूसरी कमेटी में जिला उद्योग केंद्र के सहायक निदेशक आई.एस. यादव इंचार्ज होंगे और इनके साथ एचएसआईआईडीसी के वरिष्ठ प्रबंधक ललित जोरा, जिला उद्योग केंद्र के निरीक्षक मनजीत सिंह तथा आईएमटी औद्योगिक संगठन के सदस्य कृष्ण कुमार बतौर सदस्य शामिल किए गए हैं। बड़खल उप मंडल स्तरीय तृतीय कमेटी में उप श्रम आयुक्त सुधा चैधरी को प्रभारी बनाया गया है, जबकि उनके साथ सुरक्षा एवं स्वास्थ्य के उप निदेशक धर्मेंद्र सिंह, सुरक्षा एवं स्वास्थ्य सर्कल-1 के सहायक निदेशक नवीन हुडडा तथा औद्योगिक संगठन के सदस्य एम.आर. गुलाटी को बतौर सदस्य शामिल किया गया है।  
उप सिविल सर्जन एवं जिला नोडल अधिकारी-कोरोना डा. रामभगत ने बताया कि जिला में अब तक 7224 यात्रियों को सर्विलांस पर लिया जा चुका है, जिनमें से 1685 लोगों का निगरानी में रखने का 28 दिन का पीरियड पूरा हो चुका है। शेष 5534 लोग अंडर सर्विलांस हैं। कुल सर्विलांस में रखे गए लोगों में से 7084 होम आइसोलेशन पर हैं। अब तक 6323 लोगों के सैंपल लैब में भेजे गए थे, जिनमें से 5799 की नेगेटिव रिपोर्ट मिली है तथा 384 की रिपोर्ट आनी शेष है। अब तक 140 लोगों के सैंपल पॉजिटिव मिले हैं, जिनमें से 55 लोगों को अस्पताल में दाखिल किया गया है तथा पांच पॉजिटिव मरीजों को घर पर आइसोलेट किया गया है। इसी प्रकार ठीक होने के बाद 75 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। अब तक पांच मरीजों की मौत हो चुकी है।
उन्होंने बताया कि सभी मेडिकल और पैरा मेडिकल स्टाफ को कोविड-19 की रोकथाम और प्रबंधन के लिए प्रशिक्षित किया गया है। इसी प्रकार पर्यावरण स्वच्छता और शुद्धीकरण के बारे में सरकारी व निजी विभागों के कर्मचारियों को दैनिक आधार पर प्रशिक्षण दिया जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण की पृष्ठभूमि को देखते हुए आम जनता को सरकार द्वारा स्वास्थ्य संबंधी हिदायतों की अनुपालना करने की सलाह दी जाती है। लोगो को ध्यान रखना चाहिए कि खाँसी व छींकते समय रूमाल या तौलिया का उपयोग अवश्य करें, हाथों को बार-बार साबुन व पानी से धोते रहें। जब तक बहुत जरूरी न हो, घर से बाहर न निकलें। सार्वजनिक स्थलों व सभाओं में जाने से बचें। जिन लोगों ने हाल ही में कोरोना प्रभावित देशों की यात्रा की है, उन्हें राष्ट्रीय, राज्य या जिला हेल्पलाइन नंबरों पर सूचना देनी चाहिए, उन्हें भारत में आगमन की तारीख से 28 दिनों के लिए सभी से अलग रहना है और किसी से भी स्पर्श करने से बचना है, भले ही उसमें कोई लक्षण न हों।

Post A Comment:

0 comments: