कहते हैं 16 साल से 22 उम्र में कई ऐसे राज आते हैं। जब युवा और युवती बहक जाते हैं मोहब्बत में बिछड़ने का गम। कई युवा बर्दाश्त नहीं कर पाते और अपनी जान गवा बैठते हैं । ऐसी दास्तां मध्य प्रदेश के दमोह जिले से जुड़ी है। जहां पर प्रेमी प्रेमिका साथ साथ नहीं जी भाई तो साथ में फांसी के फंदे पर चढ़ गए हैं। दमोह जिले के हटा थाने में भैंस घाट जंगल में प्रेमी प्रेमिका के शव पेड़ से टंगे मिली है। यह लास्ट 1 साल से पुरानी थी जो पेड़ में टंगे रहकर कंकाल बन चुकी है। भैंस कार की जंगल में लाश मिलने से अचानक भीड़ जमा हो गई। मोहब्बत शरीर कंकाल बन गया था  नौहटा पुलिस मौके पर पहुंची। लाश को पेड़ से उतारा गया पंचनामा हुआ फिर आगे कार्यवाही हुई। एस एफ एल की टीम आई जांच हुई पड़ताल हुई। पता चला की लाश कंकाल हो चुकी है लाश बहुत पुरानी है। इन को संभालने में दिक्कत आ रही है पुलिस ने भी यही कहा कि यह प्रेमी प्रेमिका की लाश है। सभी प्रेमी प्रेमिका से पीकेडी न्यूज़ चैनल अपील करता है कि इस तरह का कोई भी कार्य ना करें। अगर आपको लगे कि हम मोहब्बत में हार गए हमारा सपना टूट गया तो एक बार अपने मां-बाप की ओर देख लेना जिन्होंने आप को एक सहारा बना कर खड़ा किया है कि हमारे लिए सहारा बना रहेगा मां-बाप की उम्मीदों पर पानी फिर जाएगा। उनकी आशा टूट गई है अगर ऐसी लाश हैं पेड़ से टंगी मिलेगी तो परिवार सब कुछ बिखर जाएगा। मां बाप ने किस तरह तुम्हें पाला है यह तो उन्हीं को पता होगा। कुछ सपनों के टूटने से जिंदगी नहीं मर जाती है।

संववादाता-बबलू बंसल नौहटा

Post A Comment:

0 comments: