दमोह : दमोह संसदीय क्षेत्र के बड़ा मलहरा विधानसभा से कांग्रेस के विधायक प्रदुमन सिंह लोधी अब भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं. मूलतः भारतीय जनता पार्टी की मानसिकता के प्रदुमन सिंह लोधी अनेक वर्षों तक भारतीय जनता पार्टी में दमोह में सक्रिय राजनीति करते रहे हैं. लेकिन बीते विधानसभा चुनाव में प्रदुमन सिंह लोधी ने भारतीय जनता पार्टी छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया और कांग्रेस ने भी उनको विधानसभा का टिकट देकर बड़ा मलहरा से चुनाव लड़ा दिया. प्रदुमन सिंह लोधी की किस्मत अच्छी थी और वह बड़ा मलहरा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी को हराकर कांग्रेस के विधायक बन गए. कांग्रेस की सरकार में लगातार सक्रिय रहे प्रद्युमन सिंह लोधी मध्यप्रदेश में हुई लंबी उठापटक के बीच भी कांग्रेस के साथ रहे. लेकिन बीच में अटकलों का बाजार जरूर चलता रहा और अब प्रदुमन सिंह लोधी ने कांग्रेस का हाथ छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया है.
भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की अटकलों के बीच एक बार दमोह के कांग्रेस विधायक राहुल सिंह लोधी के निवास पर दोनों भाइयों ने एक प्रेस वार्ता की थी, उस दौरान प्रदुमन सिंह लोधी ने कमलनाथ के प्रति अपनी आस्था प्रकट की थी, तथा कहा था कि कांग्रेस ने उनको विधायक बनाया है और वह हमेशा ही कांग्रेस का हाथ थामे रहेंगे. लेकिन जैसे ही प्रदेश में सत्ता बदली, राजनीतिक घटनाक्रम बदले, वैसे ही प्रदुमन सिंह लोधी ने कांग्रेस का हाथ छोड़ दिया और अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के हाथों मीठा खाकर, बीडी शर्मा के हाथों भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली और विधानसभा स्पीकर को अपना इस्तीफा सौंपकर कांग्रेस की राजनीति से इतिश्री भी कर ली.
प्रदुमन सिंह लोधी ने ट्विटर पर किया अपडेट
बड़ा मलहरा के विधायक रहे प्रदुमन सिंह लोधी के भाजपा में चले जाने को लेकर उनके भाई कांग्रेस के दमोह विधायक राहुल सिंह लोधी का कहना है कि उनको थोड़ी सी भी भनक नहीं थी कि वे भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो जाएंगे. पूर्व में उनको भी कई बार ऑफर आए, लेकिन उन्होंने कभी भारतीय जनता पार्टी के साथ जाने की नहीं सोची. साथ ही उनके भाई भी उनके साथ रहे. लेकिन अचानक ही ऐसा क्या हुआ कि वे भाजपा में शामिल हो गए. इसकी उनको जानकारी नहीं है. वही बंडा के विधायक तरवर सिंह लोधी को लेकर अटकलों का बाजार फिर से गर्म होने लगा है, तो राहुल सिंह लोधी ने इस पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि तरवर सिंह लोधी कभी भी कांग्रेस का हाथ नहीं छोड़ेंगे.
पहले जहां मध्य प्रदेश की करीब 24 विधानसभा क्षेत्रों में उप चुनाव होने थे. वहीं अब बुंदेलखंड की छतरपुर जिले की बड़ा मलहरा सीट पर भी उपचुनाव होंगे, क्योंकि वहां के विधायक ने भी विधानसभा के सदस्य पद से इस्तीफा देकर के भाजपा का दामन थाम लिया है. ऐसे में अब प्रदेश के और भी स्थानों से कांग्रेस के विधायकों के टूटने के आसार बढ़ गए हैं जिसमें कुछ विधायकों के नाम सामने आ रहे हैं. देखना होगा कि उपचुनाव के बीच और क्या घटनाक्रम प्रदेश में सामने आते हैं.
संवाददाता-बबलू बंसल दमोह

Post A Comment:

0 comments: