विष्णु दयाल ब्यूरो चीफ फरीदाबाद

फरीदाबाद 13 जुलाई 2020 : फरीदाबाद में बन रहे अवैध फ्लैट्स जहां सरकार के नियमों की धज्जियां उडा रहे हैं वहीं पड़ोस के लोगों के लिए भी मौत का कारण बन सकते । घटिया सामग्री और और अवैध तरीके से खड़े किये जा रहे इन फ्लैटों से साथ लगते मकानों में रहने वाले लोगों का कहना है कि इन फ्लैटों की दीवारों को चार इंच की बनाया जा रहा है जो दूसरी मंजिल पर पहुंच कर अपने आप गिर जाती हैं हमारे संवाददाता को सेक्टर 10 के मं नं 338 के 90 गज में बन रहे पांच मंजिला फ्लैटों के पड़ोस में रहने वाले लोगों ने बुलाकर दिखाया कि इस फ्लैट की साथ वाली दीवारें भी चार इंच की हैं जो दो तीन बार निर्माण कार्य के दौरान गिर चुकी हैं जिसकी शिकायत करने पर सरकारी अधिकारी आकर अपना सुविधा शुल्क लेकर चले जाते हैं।आस पड़ोस वालों का कहना है कि अगर ये बिल्डिंग किसी साथ वाले मकान पर गिर गयी तो उनके मकान के साथ ही जानहानि होने का भी डर है वो लोग न्यायलय की शरण में जाने का मन बना रहे है।आजकल पूरे फरीदाबाद में अवैध फ्लैट्स बनाने का धंधा जोरों पर है।और इनकी खरीद फरोख्त उत्तर प्रदेश के नौएडा याअवैध फ्लैट्स पड़ोसियों के लिए बने जानलेवा अगर विभाग ने रोक ना लगाई तो न्यायालय की शरण ले सकते हैं लोग।
फरीदाबाद में बन रहे अवैध फ्लैट्स जहां सरकार के नियमों की धज्जियां उडा रहे हैं वहीं पड़ोस के लोगों के लिए भी मौत का कारण बन सकते । घटिया सामग्री और और अवैध तरीके से खड़े किये जा रहे इन फ्लैटों से साथ लगते मकानों में रहने वाले लोगों का कहना है कि इन फ्लैटों की दीवारों को चार इंच की बनाया जा रहा है जो दूसरी मंजिल पर पहुंच कर अपने आप गिर जाती हैं हमारे संवाददाता को सेक्टर 10 के मं नं 338 के 90 गज में बन रहे पांच मंजिला फ्लैटों के पड़ोस में रहने वाले लोगों ने बुलाकर दिखाया कि इस फ्लैट की साथ वाली दीवारें भी चार इंच की हैं जो दो तीन बार निर्माण कार्य के दौरान गिर चुकी हैं जिसकी शिकायत करने पर सरकारी अधिकारी आकर अपना सुविधा शुल्क लेकर चले जाते हैं।आस पड़ोस वालों का कहना है कि अगर ये बिल्डिंग किसी साथ वाले मकान पर गिर गयी तो उनके मकान के साथ ही जानहानि होने का भी डर है वो लोग न्यायलय की शरण में जाने का मन बना रहे है।आजकल पूरे फरीदाबाद में अवैध फ्लैट्स बनाने का धंधा जोरों पर है।और इनकी खरीद फरोख्त उत्तर प्रदेश के नौएडा या दिल्ली में हो रही है जिससे हरियाणा सरकार राजस्व विभाग को करोड़ों का नुक़सान झेलना पड़ रहा है।यानि ये सारी सड़क,पानी,सीवर , बिजली की सुविधा लेंगे हरियाणा सरकार से और राजस्व देंगे यू पी सरकार को। दूसरी बात सेक्टर 10 के 90 गज मकानों में सीवर पानी का ढांचा चार या पांच लोगों के लिये बनाया गया है उसमे चार फलैट बनने के बाद रहेंगे 20 या पच्चीस लोग ।भ्रष्ट अधिकारी को अपने एक दो लाख रुपए के सुविधा शुल्क के लिये लोगों की जान से खिलवाड़ करने का हक किसने दिया। ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए और ऐसे फ्लैटों पर तुरंत प्रभाव से रोक लगनी चाहिए। होनी चाहिए और ऐसे फ्लैटों पर तुरंत प्रभाव से रोक लगनी चाहिए।

Post A Comment:

0 comments: