बिहार के दरभगा से रिपोर्टर पुरुषोत्तम झा
दरभंगा. मानवाधिकार एवं सामाजिक न्याय संगठन ने प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के मूल मंत्र को जन जन तक पहुँचाने का निर्णय लिया है। संगठन की ओर से जिला, प्रखंड व ग्रामीण स्तरों पर लोगों को आत्मनिर्भर बनाने हेतु स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग देगी। संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष रोहित कुमार सिंह ने बताया कि संगठन ने इसकी शुरुआत कर दी है। आत्मनिर्भर भारत के तहत संगठन निजी खर्चे पर ज़िला में तीन ऐसे सेंटर बनाई है, जिसमें मास्क का निर्माण किया जाएगा। मिथिला पेंटिंग  विश्व भर में मिथिला की पहचान है। मिथिला पेंटिंग के माध्यम से मिथिला की संस्कृति की झलक दर्शायी जाएगी। लॉक डाउन के बाद से ही संगठन ने कई महिलाओं को जोड़कर मास्क का निर्माण करवा कर उन मास्क को लोगों के बीच बांटा था । मकसद हमेशा यही रहा की हमारे अपने शहर के ऐसे पुरुष या महिलाएं जिनमें हुनर मौजूद है, उनके द्वारा सामान बनवा कर फिर उसे खरीद कर लोगों तक पहुंचाई जाए। बताया कि यह प्रयोग सफल रहा तो संगठन दरभंगा समेत आसपास के 5 जिलों में इस तरह के केंद्रों का निर्माण करेगी। जहां पर हुनरमंद लोगों के द्वारा तैयार किए गए सामानों को बाजार उपलब्ध कराया जाएगा ।मास्क पर बनाया गया मिथिला पेंटिंग मास्क की खूबसूरती को भी बढ़ाता है इसलिए संगठन मिथिला पेंटिंग से बने हुए मास्क बनवा कर लोगो को उपलब्ध करवा रही है। संगठन के महिला प्रकोष्ठ जिला उपाध्यक्ष श्वेता कुमारी, शिल्पी सिंह ,ज्योति अन्नपूर्णा इत्यादि महिलाओं ने अपने हाथों में इस काम को लिया है।प्रदेश मुख्य महासचिव अजय कुमार अन्नपूर्णा ने कहा कि हमारी संगठन हुनरमंद लोगों को ना सिर्फ लोकल बाजार उपलब्ध कराने की कोशिश करेगी। बल्कि उनके सामान इस डिजिटल युग में इंटरनेट के माध्यम से कैसे और दूसरे लोगों तक पहुंचे इस पर भी विचार कर रही है। जल्दी हमारे संगठन एक नए पोर्टल की शुरुआत करने जा रही है। जिससे कि हमारे हुनरमंद लोगों के द्वारा बनाए गए सामान्य की बिक्री आसानी से की जा सके।

Post A Comment:

0 comments: